अंग्रेजी लड़ाती है!, ग्रामर को लेकर होती है तू तू-मैं मैं

श्रीदेवी की फिल्म ‘इंग्लिश-विंग्लिश’ मुंबईकरों के जीवन में घुली-मिली नजर आती है। इस फिल्म में जिस तरह श्रीदेवी की कमजोर अंग्रेजी उसे अपने बच्चों और पति से लड़ाती है, उसी तरह एक सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक मुंबईकरों को भी घर में अंग्रेजी लड़ाती है। लैंडमार्क बुकस्टोर्स के एक सर्वे के मुताबिक मुंबई के घरों में ग्रामर को लेकर अकसर ‘तू तू-मैं मैं’ होती है।

लैंडमार्क बुकस्टोर्स द्वारा किए गए इस सर्वे में ७२ प्रतिशत प्रतिभागियों ने यह स्वीकारा है कि अंग्रेजी ग्रामर के कारण उनके घरों में लड़ाइयां होती रहती हैं। जब पति अपनी पत्नी को या पत्नी अपने पति को अंग्रेजी ग्रामर गलत होने पर उसे ठीक करती या करता है, तो अक्सर ये घर में बहस का कारण बन जाती है। इसी के साथ ९ प्रतिशत प्रतिभागियों ने यह स्वीकारा है कि व्हॉट्सऐप और फेसबुक के मैसेजेस पर अंग्रेजी ग्रामर में की गई गलती उनके ब्रेकअप की वजह बनी है।

घरों में ही नहीं बल्कि सार्वजनिक स्थानों पर भी अंग्रेजी में गलती होने के मुद्दे उठते रहते हैं। कभी रेलवे स्टेशन तो कभी किसी साइन बोर्ड या होर्डिंग पर गलत अंग्रेजी हंसी का कारण बन जाती है। मुंबई के ४३ प्रतिशत प्रतिभागियों ने यह स्वीकारा है कि उन्होंने साइन बोर्डस पर गलत अंग्रेजी देखकर इसकी ट्विटर पर खिल्ली उड़ाई है। बीते दिनों में पश्चिम रेलवे की भी इसी भाषाई गलती के कारण हंसी उड़ी थी। पश्चिम रेलवे के सांताक्रुज स्टेशन और गोरेगांव स्टेशन पर रेलवे द्वारा अंग्रेजी का मराठी में गलत भाषांतर किया गया था, जो कि लोगों के लिए हास्यास्पद था। इसके अलावा कई प्रतिभागियों ने यह भी स्वीकारा है कि अंग्रेजी ग्रामर में खराबी उनके रिश्ते में खराबी का कारण नहीं बन सकती। यदि उनका पार्टनर ग्रामर में गलती कर रहा है, तो वे इस पर ध्यान नहीं देते। इसी के साथ २९ प्रतिशत प्रतिभागियों ने यह स्वीकारा है कि जब भी वे किसी को अंग्रेजी में गलती करते हुए पाते हैं, वे उसे सुधारने का प्रयास करते हैं जबकि ६२ प्रतिशत प्रतिभागियों ने कहा है कि यह उनके मूड पर निर्भर करता है कि वे किसी की अंग्रेजी में सुधार करें या ना करें। इंग्लिश लिटरेचर पढ़नेवाली छात्रा सुरभि माने का कहना है कि अंग्रेजी के कारण अक्सर उनकी अपने दोस्तों से लड़ाई हो जाती है, जब भी वे अपने किसी दोस्त की ग्रामर ठीक करती हैं, तो ये उनके बीच बहस का कारण बन जाता है। इसके अलावा एक निजी कंपनी में काम करनेवाले तारोनिश गोटला का कहना है कि उनकी पत्नी की खराब अंग्रेजी को लेकर हमेशा उनके बीच ‘तू तू-मैं मैं’ होती रहती है।