अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर काशी के घाटों पर दिखा योग ही योग

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर गुरुवार को आदि योगी भगवान शिव की स्थली पर शहर से लगायत गांव तक 1000 से ज्यादा जगहों पर शिविर लगाया गया। शिविर में कुल डेढ़ लाख से ज्यादा लोगों ने योग किये। गंगा के सभी घाटों सहित महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ स्पोर्ट्स ग्राउंड,काशी हिन्दू विश्विद्यालय के स्पोर्ट्स ग्राउंड,डीएलडब्ल्यू ग्राउंड,पुलिस लाइन ग्राउंड आदि स्थानों पर प्रातः काल योग शिविर का वृहद आयोजन हुआ।इसमे सीनियर सिटीजन से लेकर युवा और बच्चे भी पूरे उत्साह के साथ शामिल हुए।
अस्सी घाट पर सुबह ए बनारस द्वारा आयोजित योग शिविर में 3 हजार से अधिक लोग शामिल हुए।यहाँ योगाचार्य विजय मिश्र ने योगाभ्यास कराया।
योग शिविरों में योगचार्यो ने योगाभ्यास कराने के साथ ही 21जून को ही अन्तर्राष्ट्रोय योग दिवस क्यो मनाया जाता है,पर प्रकाश डाला और बताया कि 21 जून को ग्रीष्म संक्रांति होती है। इस दिन सूर्य धरती की दृष्टि से उत्तर से दक्षिण की ओर चलना शुरू करता है। यानी सूर्य जो अब तक उत्तरी गोलार्ध के सामने था, अब दक्षिणी गोलार्ध की तरफ बढऩा शुरु हो जाता है। योग के नजरिए से यह समय संक्रमण काल होता है, यानी रूपांतरण के लिए बेहतर समय होता है। ग्रीष्म संक्रांति का दिन पूरे वर्ष का सबसे लंबा दिन होता है। साथ ही योगाचार्यो ने यह भी बताया कि आज के भागमभाग वाले जीवन शैली में अपने को स्वस्थ रखने के लिए योगा ज्यादा महत्वपूर्ण है। मात्र 10 से 15 मिनट के योगाभ्यास से आप पूरे दिन अपने आप को स्वस्थ्य महसूस कर सकते है। योग के द्वारा असाध्य रोग पर भी विजय पा सकते है। यही वजह है कि पूरी दुनिया आज इसे अपना रही है।
महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के स्पोर्ट्स ग्राउंड पर आयोजित योग शिविर में कुलपति टी एन सिंह के साथ पूरा विश्वविद्यालय परिवार तो था ही साथ ही जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह और पूरा प्रशासनिक अमला भी मौजूद था।इनके अलावा अंतरराष्ट्रीय एथलीट नीलू मिश्रा वके नामी गिरामी खिलाड़ी लोग भी इस योग शिविर में शामिल हुए।
पुलिस लाइन ग्राउंड पर आयोजित योग शिविर में एडीजी जोन,आई जी,डी आई जी,एसएसपी सहित तमाम पुलिस अधिकारी व पुलिसके जवान शामिल हुए।