अगस्टा डील घोटाला: सीबीआई का दावा घूस में दिए थे ४३२ करोड़

अगस्टा वेस्टलैंड डील में बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए सीबीआई उन हिंदुस्थानियों तक पहुंचने के करीब है, जिन्होंने इस सौदे में घूस ली थी। सीबीआई का दावा है कि उसने उन दस्तावेजों को बरामद कर लिया है, जिनसे यह तथ्य स्थापित होता है कि अगस्टा ने क्रिश्चन मिशेल और गुइडो हाश्के को ५४ मिलियन पाउंड यानी ४३१ करोड़ रुपए की राशि हिंदुस्थान में पेमेंट के लिए दी थी। कंपनी ने कुल ५८ मिलियन पाउंड दिए थे, जिनमें से ५४ मिलियन पाउंड की रकम हिंदुस्थानियों को दी जानी थी।
सूत्रों के मुताबिक मिशेल और हाश्के ने ८ मई, २०११ को दुबई में जो एग्रीमेंट तैयार किया था, उसमें ५८ मिलियन पाउंड की रकम का जिक्र था। दुबई में यह मीटिंग दोनों ओर के बिचौलियों के बीच रकम के बंटवारे को लेकर समझौता करने के लिए बुलाई गई थी। एक तरफ मिशेल और उसकी टीम थे, जबकि दूसरी तरफ हाश्के, कार्लो गेरोसा और त्यागी ब्रदर्स थे। इससे पहले दोनों ओर के बिचौलियों के बीच विवाद था। इसकी असल वजह यह थी कि हाश्के इस बात से खुश नहीं था कि मिशेल ने ४२ मिलियन पाउंड की रकम अपने लिए रख ली है, जबकि उन्हें ३० मिलियन ही मिल रही थी। आखिर में इस बात पर समझौता हुआ कि मिशेल को ३० मिलियन पाउंड मिलेंगे, जबकि हाश्के और अन्य के बीच २८ मिलियन पाउंड की रकम में से बंटवारा होना था। सीबीआई के मुताबिक वायुसेना के पूर्व चीफ एसपी त्यागी और उनके परिजनों संदीप, संजीव और राजीव को १०.५ मिलियन पाउंड दिए जाने थे, जिसमें से ३ मिलियन पाउंड की रकम उन्हें अदा की गई थी।