अजनबी की अनोखी ब्लैकमेलिंग : सऊदी से चला रहा है कारोबार

होता है इंटरनेट कॉल
दोस्त बनकर करते है वसूली
व्हॉट्सऐप या अन्य ऐप से इंटरनेट कॉल करनेवाले अजनबियों से फोन पर बात करना या जान पहचान बढ़ाना बेहद घातक हो सकता है। ऐसे ही एक मामले में अंटॉपहिल में रहनेवाली महिला को इंटरनेट कॉल करके एक अजनबी ने दोस्ती बढ़ाई। उस अजनबी ने महिला से उसके व उसके परिवार के बारे में जानकारी हासिल की और बाद में उन जानकारियों का दुरुपयोग करके महिला को ब्लैकमेल करने लगा। इस मामले में मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने जब एक आरोपी को गिरफ्तार किया तो पता चला कि उसका मुखिया सऊदी अरब में बैठकर ब्लैकमेलिंग का कारोबार चला रहा है।
बता दें कि अंटॉप हिल पुलिस थाने की हद में रहनेवाली एक महिला ने अज्ञात ब्लैकमेलरों के खिलाफ अवैध वसूली, एवं विनयभंग की शिकायत दर्ज कराई थी। ब्लैकमेलरों से उसकी पहचान एक फोन कॉल के जरिए हुई थी। फोन करनेवाले की बात का लहजा महिला को पसंद आया था और वह उसकी बातों में आ गई। धीरे-धीरे अजनबी फोन कॉलर के फोन कॉल बढ़ने लगे। बातों के सिलसिले में विवाहिता ने अपने और अपने परिवार के बारे में काफी कुछ फोन करनेवाले को बता दिया। उन जानकारियों के आधार पर ब्लैकमेलर ने महिला की तस्वीरें हासिल की और उन तस्वीरों से छेड़छाड़ करके उन्हें वायरल करने की धमकी देने लगा। उसने महिला से ३०,००० रुपए मांगने लगा। पैसे न देने पर उसके बेटे को कत्ल करने की धमकी दे रहा था। पुलिस ने जांच शुरू की तो ब्लैकमेलर द्वारा ऐप से इंटरनेट कॉलिंग किए जाने का खुलासा हुआ। २५ जुलाई को आरोपी ने दुबारा पैसों के लिए फोन किया और पीड़िता को पैसे लेकर कुर्ला रेलवे स्टेशन के पास बुलाया। मुंबई क्राइम ब्रांच की यूनिट-४ के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक संदेश रेवले के मार्गदर्शन में पीआई जगदीश भांबल और एपीआई विनोद मालवे, राजेश पाटील की टीम ने कुर्ला-पश्चिम रेलवे स्टेशन के पास से २१ वर्षीय अब्दुल हकीम खान को हिरासत में लिया। पूछताछ में अब्दुल ने बताया कि वह सिर्फ पैसा लेने आया था जबकि मुख्य आरोपी शोकत खान एक साल से सऊदी अरब के कतर से यह कारोबार चला रहा है।