अनंतनाग में आतंकी हमले में 7 की मौत: इनमें 5 जवान, दो आतंकी

अमरनाथ यात्रा के शुरू होने से 18 दिन पहले आतंकियों ने दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग कस्बे के उस बस अड्डे के पास एक फिदायीन हमला कर पांच जवानों की जान ले ली जहां से अमरनाथ यात्रियों को गुजरना होता है। आधिकारिक तौर पर 3 जवानों और एक आतंकी के मारे जाने की पुष्टि हुई है। समाचार लिखे जाने तक गोलीबारी जारी थी। हमले में एसएचओ तथा एक महिला भी गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं जिनकी दशा नाजुक बताई जा रही है।

आधिकारिक जानकारी के मुताबिक, अनंतनाग में ऑक्सफोर्ड स्कूल के पास सीआरपीएफ पार्टी पर फिदायीन हमले में सीआरपीएफ के तीन जवान शहीद हो गए, जबकि तीन अन्य घायल हो गए। सुरक्षाबलों ने इस दौरान एक आतंकी को भी मार गिराया। हमले में एसएचओ अनंतनाग भी जख्मी हुए हैं। घायलों को नजदीकी अस्पताल में दाखिल कराया गया है, जहां उनकी हालत खतरे से बाहर है।

दक्षिण कश्मीर में केपी रोड अनंतनाग में पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम पर किए गए फिदायीन हमले की जिम्मेदारी अल उमर मुजाहिदीन ने ली है। अल उमर मुजाहिदीन के प्रवक्ता ने कहा कि उसके कैडरों ने ही सुरक्षाबलों की पार्टी पर हमला किया, जिसमें पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हुए हैं। प्रवक्ता ने निकट भविष्य में और हमले करने की धमकी भी दी है।

इससे पहले जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकी हमले में सीआरपीएफ के करीब 40 जवान शहीद हो गए थे और कई अन्य घायल हो गए थे। जैश के आतंकी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों को ले जा रही बस को टक्कर मार दी थी। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के करीब 2500 जवान 78 वाहनों के काफिले में जा रहे थे। इनमें से अधिकतर अपनी छुट्टियां बिताने के बाद अपनी ड्यूटी पर लौट रहे थे।