" /> अनलॉक-वनः हॉटस्पॉट एरिया में घर-घर बंटेगी परिवार नियोजन सामग्री

अनलॉक-वनः हॉटस्पॉट एरिया में घर-घर बंटेगी परिवार नियोजन सामग्री

– अनलॉक-वन में शुरू हुआ परिवार नियोजन
– अभी नसबंदी के ऑपरेशन नहीं होंगे इसलिए दवाओं का वितरण

आगरा में कोरोना वायरस का संक्रमण फिर से रफ्तार पकड़ने लगा है। अनलॉक से पहले सात दिनों में 35 मरीज मिले थे। रफ्तार रोज पांच मरीज की थी। अब अनलॉक के सात दिनों में 68 मिल गए हैं। रोज लगभग 10 मरीज का औसत है। इस सप्ताह में आठ संक्रमितों की जान भी चली गई है।

कोरोना वायरस के चलते जनपद में परिवार नियोजन कार्यक्रम रुके थे जो अब शुरू कर दिए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने लॉकडाउन के बाद फिर से परिवार नियोजन गतिविधियां संचालित कर दी हैं। अभी नसबंदी के ऑपरेशन नहीं होंगे, बाकी की दवाओं का वितरण शुरू कर दिया है। सबसे खास बात हॉटस्पॉट एरिया में घर-घर गर्भ निरोधक गोलियां आदि पहुंचाई जाएंगी।

कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन में गर्भ निरोधक कार्यक्रम टाल दिए गए थे। अब सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और उपकेंद्रों पर परिवार नियोजन के लिए गर्भ निरोधक गोलियां, पीपीआईयूसीडी (पोस्टपार्टम इंट्रायूटेराइन कोंट्रासेप्टिव डिवाइस), पीआईयूसीडी (पार्टम इंट्रायूटेराइन कोंट्रासेप्टिव डिवाइस), अंतरा, छाया आदि की सुविधा मिलेगी। परिवार नियोजन कार्यक्रम की नोडल अधिकारी डॉ. रचना गुप्ता ने बताया कि हॉटस्पॉट में स्वास्थ्य कर्मचारी घर-घर गर्भनिरोधक सामग्री उपलब्ध कराएंगे।

क्या है पीपीआईयूसीडी (पोस्टपार्टम इंट्रायूटेराइन कोंट्रासेप्टिव डिवाइस)
यह बच्चों में अंतर रखने की एक विधि है, जिसमें महिला के प्रसव के तुरंत बाद गर्भाशय में यह डिवाइस लगाई जाती है। बच्चों में तीन या तीन वर्ष से अधिक समय का अंतर रखने के लिए इस विधि का उपयोग किया जाता है। इससे मां और बच्चे दोनों के स्वास्थ्य पर कोई असर नहीं पड़ता। जब दंपति को अगले बच्चे की इच्छा हो, तो वह यह डिवाइस गर्भाशय से निकलवा सकते हैं।