अपने लिए भी निकालें कुछ वक्त

हमारे जीवन के समय रूपी महल की दीवारें सेकंड, मिनट, घंटे, दिन, सप्ताह, महीने और साल रूपी र्इंट, बालू और सीमेंट से चुनी गई हैं इसलिए जीवन को सफल बनाने के लिए समय का सदुपयोग जरूरी है। रोज की भागदौड़ और प्रतिस्पर्धा में प्रतिदिन कुछ वक्त अपने लिए निकालकर कुछ ऐसा काम भी करना चाहिए, जिससे हमें सकारात्मक ऊर्जा मिल सके। प्रतिदिन कुछ मिनटों में किए गए ऐसे काम हमें नई ताजगी, ऊर्जा और स्फूर्ति प्रदान करते हैं। कुछ मिनटों में सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करनेवाले कुछ उदाहरण निम्न हो सकते हैं। यह समय के बारे में है, जब आप इन क्रियाओं को आजमाते हैं तो यह आपके मानसिक स्वास्थ्य में मददगार सिद्ध होती हैं।

बॉलीवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्मा ने हाल ही में अपनी एक तस्वीर सोशल मीडिया में साझा की थी। तस्वीर के साथ अनुष्का ने वैâप्शन में लिखा था कि प्राकृतिक शांति की ओर प्रस्थान। केट हडसन साइकिल चलाना पसंद करती है और इसे अपने नए वर्कआउट में शामिल करती हैं। दुनिया फास्टमैन उसैन बोल्ट संगीत से प्यार करता है और उसे रेग, हिप हॉप पॉप सुनना बेहद पसंद है। इसी तरह स्नेप के सीईओ इवान स्पिएगेल को फूलों को सलीके से सजना बेहद पसंद है, जिनमें इंग्लिश गार्डन गुलाब उन्हें बेहद पसंद हैं। ये कुछ ऐसी गतिविधियां हैं, जो आज के सेलिब्रिटिज अपने व्यस्त समय से कुछ कीमती समय निकालकर अपने स्वास्थ्य के लिए करते हैं। इससे उन्हें सुकून और सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। आइए जानते हैं आप अपने लिए कितना वक्त निकालते हैं तो क्या और कितना लाभ हो सकता है?
सिर्फ ३ मिनट- अध्ययन में पाया गया है कि कृतज्ञता व्यक्त करने की आदत अवसाद को कम करने में मददगार सिद्ध होती है और इससे सकारात्मकता बढ़ती है और अच्छी नीद आती है। इसलिए हर रात सोने से पहले सिर्फ ३ मिनट उन ३ अच्छी और सकारात्मक बातों के बारे में सोचें जो पूरे दिन में आपके साथ हुई होंगी।
सिर्फ ४ मिनट- किसी चंचल मन को नियंत्रित करने में फूल मददगार सिद्ध हो सकते हैं। एक जापानी यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए अध्ययन के आधार पर जर्नल ऑफ फिजियोलॉजिकल
एंथ्रोपोलॉजी नामक पत्रिका में दावा किया गया है कि एक कार्यालय में काम करनेवाला कर्मचारी यदि चार मिनट के लिए गुलाब के गुलदस्ते या गमले को निहारता है तो उसने पैरासिम्पेथेटिक नर्व एक्टिविटी (विश्राम का संकेत) दिखाया और उन लोगों की तुलना में अधिक आरामदायक महसूस किया, जो गुलाब के संपर्क में नहीं थे।
५ मिनट- जब आप लंबे आउटडोर में हों, तो अपनी हृदय गति को बढ़ाने के लिए कुछ करें। जर्नल एनवायरनमेंटल साइंस एंड टेक्नोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि हरी-भरी जगह पर बस थोड़ी सी व्यायाम करने से आपके मानसिक स्वास्थ्य को भारी लाभ मिल सकता है, इससे मन में उत्साह का संचार होता है और आत्मसम्मान को बढ़ावा मिल सकता है।
६ मिनट- यूनिवर्सिटी ऑफ ससेक्स के अध्ययन में लोगों को तनावपूर्ण लक्ष्य दिए गए और बीच में एक ‘राहत प्रदान करनेवाला’ काम करने के लिए कहा गया, मसलन पढ़ना, संगीत सुनना, गर्म पेय लेना या वीडियो गेम खेलना। जब प्रत्येक प्रतिभागियों के रक्त में तनाव-सहित कोर्टिसोल को मापा गया तो पता चला कि पाठकों के स्तर में सर्वाधिक – ६८ फीसदी तक गिरावट दर्ज हुई थी।
१२ मिनट- लोवा स्टेट यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन में पाया गया कि छात्रों को १२ मिनट तक लोगों से ‘प्यार भरी दयालुता’ रखने के लिए परिसर में घूमने के लिए कहने से उन्हें खुशी, जुड़ाव, देखभाल और सहानुभूति महसूस करने में मदद मिलती है, साथ ही साथ कम उत्सुक भी होते हैं।
२० मिनट- जर्मन विश्वविद्यालय के खोजकर्ताओं ने पाया कि जिन प्रतिभागियों ने २० मिनट तक गायन में भाग लिया उनमें खुशी का उच्च स्तर और दुख तथा चिंता के निचले स्तर के साथ-साथ तनाववाले हार्मोन कोर्टिसोल में कमी देखी गई।
२५ मिनट- माइंडफुलनेस मेडिटेशन आमतौर पर वर्तमान में अपनी श्वास पर ध्यान केंद्रित करके मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का तरीका दिखाया गया है। कार्नेल मेलॉन विश्वविद्यालय के एक अध्ययन में पाया गया कि ३ दिनों के लिए माइंडफुलनेस अभ्यास के छोटे सत्रों- २५ मिनटों ने प्रतिभागियों में तनाव को कम करने में मदद मिली है।
३० मिनट- गर्म स्नान पानी में न केवल आपके शरीर को राहत प्रदान करता है बल्कि मांसपेशियों में खिंचाव को कम करके राहत प्रदान करता है लेकिन जर्मनी में प्रâीबर्ड विश्वविद्यालय के एक अध्ययन में पता चला है कि प्रतिदिन ३० मिनट के लिए डुबकी लगाने से (स्नान) प्रतिभागियों में अवसाद को कम करने में मदद मिलती है। अवसाद वाले लोग अक्सर शरीर की समय-चक्र को प्रभावित करते हैं और गर्म पानी में स्नान से मुख्य रूप से शरीर के तापमान को गर्म करने से शरीर की घड़ी को वापस लाने में मदद मिल सकती है। अन्य शोधों में पाया गया कि गर्म पानी में स्नान करने से रक्तचाप कम होता है और यहां तक कि अकेलेपन की भावनाओं को भी कम करता है।
४५ मिनट- फुटबॉल के अपने जूते पहन लें या युगल के खेल के लिए अपने टेनिस रैकेट को बाहर निकाल लें। मनोरोग से संबंधित पत्रिका लैंसेट में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, हर सप्ताह ३ से ५ बार ४५ मिनट शारीरिक क्रिया (वर्जिश) करने से मानसिक स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है लेकिन अध्ययन में यह भी दिखाया गया कि समूह में खेले जानेवाले खेल में हिस्सा लेने से मानसिक स्वास्थ्य पर अधिक सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।
२ घंटे- प्राकृतिक माहौल में समय बिताना आपकी सेहत के लिए लाभदायक हो सकता है। बाहर अकेले या फिर दोस्तों के साथ कुछ अच्छा समय बिताना आपको जीवन की समस्याओं को बेहतर परिप्रेक्ष्य समझने में मदद कर सकता है। यूनिवर्सिटी ऑफ एक्सेटर के नेतृत्व में किए गए शोध में पता चला है कि इसके लिए २ घंटे का समय देना चमत्कारी सिद्ध हो सकता है। आप अलग-अलग छोटे दौरों में भी ये दो घंटे का समय निकाल सकते हैं।