अब इंटरनेट की स्पीड होगी और तेज, इसरो ने लॉन्च किया जीसैट-११

हिंदुस्थान का सबसे भारी उपग्रह जीसैट-११ लॉन्च हो गया है। कल सुबह फ्रेंच गुयाना से एरियन स्पेस रॉकेट की मदद से इसका सफल प्रक्षेपण किया गया। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि जीसैट-११ का सफल प्रक्षेपण देश में ब्रॉडबैंड सेवा को और बेहतर बनाने में मदद करेगा, जिससे इंटरनेट की स्पीड में सुधार होगा।
दक्षिण अमेरिका के पूर्वोत्तर तटीय इलाके में स्थित  फ्रेंच  गुयाना के कौरू में स्थित एरियन प्रक्षेपण केंद्र से भारतीय समय के अनुसार तड़के २.०७ बजे रॉकेट ने उड़ान भरी। एरियन-५ रॉकेट ने सफलता पूर्वक करीब ३३ मिनट में जीसैट-११ को उसकी कक्षा में स्थापित कर दिया। भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी ने बताया कि इसरो के सबसे भारी, अत्याधुनिक संचार उपग्रह जीसैट-११ से ब्रॉडबैंड सेवा और बेहतर होगी। इसरो के मुताबिक जीसैट-११ हिंदुस्थान की मुख्य भूमि और द्वीपीय क्षेत्र में हाई-स्पीड डेटा सेवा मुहैया कराने में मददगार साबित होगा। उसमें केयू बैंड में ३२ यूजर बीम जबकि केए बैंड में ८ हब बीम हैं। सिवन का कहना है कि यह उपग्रह हिंदुस्थान में १६ जीबीपीएस डेटा स्पीड मुहैया करा सकेगा। उन्होंने बताया कि ४ संचार उपग्रहों के माध्यम से देश में १०० जीबीपीएस डेटा स्पीड मुहैया कराने का लक्ष्य रखा गया है। इस श्रेणी में जीसैट-११ तीसरा उपग्रह है।