" /> अब पूरी इमारत नहीं, फ्लोर होंगे सील : मनपा ने लाया नया अध्यादेश

अब पूरी इमारत नहीं, फ्लोर होंगे सील : मनपा ने लाया नया अध्यादेश

500 मीटर के आसपास के क्षेत्र भी होते थे सील
अत्यावश्यक सेवाओं के कर्मचारियों को हो रही थी परेशानी
पहले किसी इमारत अथवा सोसायटी में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद पूरी सोसायटी और इमारत के साथ ही 500 मीटर के आसपास के क्षेत्र को सील किया जाता था लेकिन मनपा प्रशासन ने अब इसमें बदलाव करते हुए इमारत के जिस मंजिल पर कोरोना का मरीज पाया जाएगा, अब उसे ही सील किया जाएगा। इस संदर्भ में मनपा प्रशासन ने एक अध्यादेश भी जारी किया है। हलांकि झोपड़पट्टी परिसर में कोई बदलाव नहीं किया गया हैं।

बता दें कि ठाणे में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। स्थिति इतनी गंभीर है कि ठाणे शहर ने कोरोना संक्रमण मामले में पुणे को पछाड़ दिया है। शुक्रवार को अब तक सर्वाधिक 197 नए मरीज कोरोना के ठाणे में मिले हैं। विशेषतः देखा जाए तो झोपडपट्टी परिसर और पुरानी अवैध इमारतों में इसका संक्रमण तेजी से हो रहा है, जिसे रोकने के लिए मनपा उपाय योजना करती नजर आ रही हैं। सोसायटी और इमारतों में संक्रमण कम हो इसके लिए अनेकों उपाय योजना भी मनपा कर रही है। ठाणे शहर में बड़े पैमाने पर कंटेनमेंट जोन है। इसमें अनेक इमारतों और सोसायटियों का समावेश हैं। इन इमारतों और सोसायटियों में अत्यावश्यक सेवाओं के लिए काम करने वाले पुलिस, डॉक्टर, नर्स सहित अन्य कर्मचारी रहते हैं। ऐसे में एकाध इमारत अथवा सोसायटी में कोरोना पॉजिटिव मरीज के मिलने के बाद उस इमारत और उसके आसपास के 500 मीटर के परिसर को सील करना पड़ता था। जिसके कारण इन इमारतों और सोसायटियों में रहने वाले लोगों को अत्यावश्यक सेवा के लिए आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ता था। इसलिए मनपा प्रशासन ने अब इसमें सुधार कर नया अध्यादेश जारी किया है। अब इस नए अध्यादेश के अनुसार जिस इमारत की मंजिल पर कोरोना का मरीज पाया जाएगा अब उस मंजिल को ही सील किया जानेवाला है। लेकिन इमारत अथवा सोसायटी के अन्य सदस्यों को भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना ही होगा। यह आदेश मनपा के अतिरिक्त आयुक्त गणेश देशमुख ने दिया है।