अमनलॉज-जुम्मापट्टी के बीच बिछेगी १० किमी रेल लाइन

नेरल-माथेरान के बीच छुक-छुक कर चलनेवाली टॉय ट्रेन विगत कुछ वर्षों से विवादों में रही है। इसकी वजह निरंतर टॉय ट्रेन के पटरी से उतरने की घटना है। नेरल से माथेरान के बीच पुरानी हो चुकी पटरियों को बदलने की कवायद रेलवे ने शुरू कर दी है। मध्य रेलवे नेरल-माथेरान रूट पर १० किमी की नई रेल लाइन बिछाने के काम में लग गई है।
जानकारी के मुताबिक नेरल-माथेरान रूट पर अमनलॉज-जुम्मापट्टी के बीच पुरानी रेल पटरी को हटाकर रेलवे १० किमी नई रेल पटरी बिछा रही है। इस काम के लिए मध्य रेलवे ने नेरल-माथेरान रूट पर ५ दिन का ब्लॉक भी लिया है। विशेष ब्लॉक के दौरान विभिन्न तरह के इंजीनियरिंग कामों को किया जाएगा। मध्य रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक पटरी बिछाने के लिए सोमवार से शुक्रवार तक यह ब्लॉक लिया गया है। सुबह ९.४५ बजे से दोपहर १.४५ बजे तक यह ब्लॉक रहेगा। ४ घंटे के इस ब्लॉक के दौरान ८ बजकर ३० मिनट पर नेरल से चलनेवाली ट्रेन संख्या ५२१०३ और ९ बजकर २० मिनट पर माथेरान से छूटनेवाली ट्रेन संख्या ५२१०२ टॉय ट्रेन सेवा रद्द रहेगी। टॉय ट्रेन के लगातार पटरी से उतरने की घटना के बाद रिसर्च डिजाइन एंड स्टैंडर्ड ऑर्गनाइजेशन (आरडीएसओ) ने नेरल-माथेरान रूट का सर्वे के बाद आरडीएसओ ने रेलवे को सुझाव दिया था कि नेरल-माथेरान रूट पर स्टील के स्लीपर की जगह कंक्रीट मटेरियल के स्लीपर लगाए जाए।

टॉय डीरेलमेंट की घटनाएं
२१ दिसंबर २०१८ पनोरमा पॉइंट
२० दिसंबर २०१८ दो कोच पटरी से उतरे
९ दिसंबर २०१८ जुम्मापट्टी स्टेशन के पास हादसा