" /> अयोध्या एयरपोर्ट का नाम `मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम’ होगा

अयोध्या एयरपोर्ट का नाम `मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम’ होगा

भगवान श्रीराम की जन्मस्थली अयोध्या में बनने जा रहे एयरपोर्ट का नाम `मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम’ होगा जिसे अगले साल दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। इस तरह यह उत्तर प्रदेश में पांचवा एयरपोर्ट होगा जो अंतरार्ष्ट्रीय स्तर का होगा। अभी लखनऊ में अमौसी का चौधरी चरण सिंह तथा वाराणसी का लाल बहादुर शास्त्री एयरपोर्ट अंतरार्ष्ट्रीय स्तर का है। भगवान बुद्ध की निर्माण स्थली कुशीनगर तथा जेवर में बन रहे एयरपोर्ट को भी अंतरार्ष्ट्रीय स्तर के मानकों के अनुसार बनाया जा रहा है। कुशीनगर का एयरपोर्ट इस साल के नवंबर तक काम करने लगेगा और पहली उड़ान श्रीलंका के कोलंबों के लिए होगी।
आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को बताया कि राम मंदिर बनने के बाद अयोध्या में राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय श्रद्धालुओं और पर्यटकों की संख्या में भारी वृद्धि होगी। इसके मद्देनजर राज्य सरकार ने एयरपोर्ट के विस्तार की योजना बनाई है। गौरतलब है कि अप्रैल २०१७ तक अयोध्या एयरपोर्ट का विकास दो चरणों में करने की योजना बनाई गई थी। इसके लिए हुए टेक्नो-इक्नोमिक सर्वे में पहले चरण में एटीआर-७२ विमानों के लिए विकसित किया जाना था। इसमें रन-वे की लंबाई १,६८० मीटर रखी जानी थी। दूसरे चरण में ए-३२१, २०० सीटर विमानों के संचालन के लिए एयरपोर्ट विकसित होना था। इसमें रन-वे की लंबाई २,३०० मीटर प्रस्तावित थी। बाद में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस एयरपोर्ट को बोइंग-७७७ विमानों के योग्य बनाने और उसका नाम बदलने की घोषणा की थी। इसके बाद भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने पिछले साल पांच मई को भौतिक सर्वे करने के बाद संशोधित रिपोर्ट प्रस्तुत किया था।