" /> अयोध्या के संतों ने दिया द्धव ठाकरे को आशीर्वाद

अयोध्या के संतों ने दिया द्धव ठाकरे को आशीर्वाद

शिवसेनापक्षप्रमुख व महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के अयोध्या आगमन पर लगातार संतों का आशीर्वाद बरस रहा है। अयोध्या के संत-महंतों ने इस बार भी कहा कि उद्धव ठाकरे का अयोध्या में स्वागत है। श्रीराम जन्मभूमि स्थान पर विराजमान भगवान रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सतेंद्रदास ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि स्थान की मुक्ति में शिवसेना का बड़ा योगदान रहा, उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। पहले भी उद्धव ठाकरे शिवसेनापक्षप्रमुख के रूप में सपरिवार अयोध्या आए थे और उन्होंने श्रीराम जन्मभूमि स्थान जाकर भगवान रामलला का दर्शन किया था। अब वे मुख्यमंत्री के रूप में भगवान रामलला का दर्शन करने आ रहे हैं। हम उनका स्वागत करते हैं।
आचार्य सतेंद्र दास ने कहा कि हम रामलला की ओर से उन्हें आशीर्वाद देते हैं कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में उन्हें जो जिम्मेदारी मिली है, उसका वे सफलता पूर्वक निर्वाहन करें। अयोध्या में जो भी आता है, अयोध्यावासी उनका स्वागत करते हैं। संत प्रदीप दास ने कहा कि आगामी ७ मार्च को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में उद्धव ठाकरे पहली बार भगवान रामलला का दर्शन करने आ रहे हैं। हम साधु-संत उनका स्वागत करते हैं। शिवसेना श्रीराम जन्मभूमि स्थान पर भव्य राममंदिर निर्माण के लिए हमेशा तत्पर रही। उद्धव ठाकरे जब पहली बार अयोध्या आए थे, उनके आने से राममंदिर बनाने का पैâसला जल्दी आ गया, वैसे ही पुन: उनके आने से श्रीराम जन्मभूमि स्थान पर भव्य राममंदिर निर्माण के कार्य में भी तेजी आ जाएगी। उनके अयोध्या आगमन से राममंदिर के निर्माण को गति मिलेगी। युवा संत समाज के उद्धवदास ने कहा कि ७ मार्च को अयोध्या आगमन पर शिवसेनापक्षप्रमुख व महाराष्ट्र के यशस्वी मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का युवा संत समाज स्वागत करेगा। वह यूपी के बाहर के पहले मुख्यमंत्री हैं, जो श्रीराम जन्मभूमि स्थान पर भव्य राममंदिर निर्माण बनने का पैâसला आने के बाद श्रीराम जन्मभूमि स्थान पर विराजमान भगवान रामलला का दर्शन करने आ रहे हैं। उनके पूज्य पिताश्री हिंदूहृदयसम्राट शिवसेनाप्रमुख श्री बालासाहेब ठाकरे ने श्रीराम जन्मभूमि के मुक्ति आंदोलन में बड़ी भूमिका निभाई है। आज उनकी भूमिका को सार्थक करने के लिए उनके सुपुत्र महाराष्ट्र के यशस्वी मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अपनी सरकार के १०० दिन पूरे होने पर अयोध्या आ रहे हैं। उनके आने से हमारा संत समाज गौरवान्वित हो रहा है। हम उनके अयोध्या आगमन का भव्य स्वागत करते हैं। संत विमलदास जी महाराज ने कहा कि शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे जब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री नहीं थे, तब भी उन्होंने अयोध्या आकर श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राममंदिर निर्माण के लिए हुंकार भरी थी और भव्य सरयू आरती की थी। अब वे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार अयोध्या आकर श्रीराम जन्मभूमि स्थान पर जाकर भगवान रामलला का दर्शन करेंगे और सरयू आरती करेंगे। उद्धव ठाकरे अयोध्या के संतों का आशीर्वाद लेने आ रहे हैं, यह बहुत सुखद बात है। इससे पहले भी उन्होंने अयोध्या के संत-महांतों का आशीर्वाद लिया था। भगवान रामलला के आशीर्वाद से वह मुख्यमंत्री बन गए। अब वह अपनी सरकार के सौ दिन पूरे होने पर यहां के संतों का दर्शन करने आ रहे हैं। अयोध्या के संतों की ओर से उन्हें बहुत-बहुत आशीर्वाद है।