" /> अयोध्या में राज्य सड़क परिवहन निगम विभाग ने कोरोना वायरस से बचने के लिए अयोध्या डिपो में बसों को सेनीटाइज करना शुरू किया

अयोध्या में राज्य सड़क परिवहन निगम विभाग ने कोरोना वायरस से बचने के लिए अयोध्या डिपो में बसों को सेनीटाइज करना शुरू किया

अयोध्या में राज्य सड़क परिवहन निगम विभाग ने कोरोना वायरस से बचने के लिए अयोध्या डिपो में बसों को सेनीटाइज करना शुरू कर दिया है। परिवहन विभाग के एआरएम महेश कुमार ने अयोध्या बस डिपो में बसों को ब्लीचिंग पाउडर के घोल से सेनेटाइज कराया है। बस के अंदर की सीट, हैंडल और पाइप को सफाई कर्मियों द्वारा साफ किया गया। रोडवेज की बसों में प्रतिदिन 30 हजार के करीब यात्री यात्रा करते हैं । ऐसे में पब्लिक ट्रांसपोर्ट को देखते हुए बसों को साफ रखना बेहद जरूरी  है। अयोध्या बस डिपो के अधिकारियों ने राज्य सरकार की गाइड लाइन को मानते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए यह विशेष अभियान शुरू किया है। यही नहीं अयोध्या बस डिपो में कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए क्या उपाय किये जायें उसका अनाउंसमेंट भी शुरू किया है। अयोध्या बस डिपो से 136 बसों का संचालन प्रतिदिन होता है। ऐसे में जो भी बसें यात्रियों को लेकर निकलेंगी उन बसों को सेनेटाइज किया जाएगा । बसों के अंदर यात्रियों को कोरोना वायरस से जागरूक करने के लिए कंडक्टर व ड्राइवरों को भी प्रशिक्षित किया जा रहा है। अयोध्या डिपो के एआरएम महेश कुमार का कहना है कि कोरोना वायरस के भय का असर यात्रियों में देखा जा सकता । दिल्ली व गोरखपुर के यात्रियों में कमी आई है  लेकिन रोडवेज विभाग कोरोना वायरस के संक्रमण से यात्रियों को सुरक्षित रखने के लिए अन्य उपाय भी कर रहा है। बस स्टेशन में पीने के पानी वाले स्थान पर हाथ धोने के लिए साबुन की व्यवस्था भी की गई है । यदि कोई बीमार यात्री दिखता है उसके लिए भी कंडक्टर को प्रशिक्षित किया गया है कि वह इसकी सूचना उच्च अधिकारियों को दें । रोडवेज विभाग हर हाल में अपनी यात्रियों की सुरक्षा का विशेष ध्यान दे रहा है । बस ड्राइवरों व कंडक्टरों को सेनेटाइजर व मास्क का इंतजाम भी रोडवेज विभाग कर रहा है । जिससे रोडवेज कर्मचारी कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित रहे।