" /> चमगादड़ के बाद चिकन वायरस करेगा लफड़ा! -अमेरिकी वैज्ञानिक का दावा

चमगादड़ के बाद चिकन वायरस करेगा लफड़ा! -अमेरिकी वैज्ञानिक का दावा

-दुनिया को कर देगा आधा
-अमेरिकी वैज्ञानिक का दावा

*मुर्गी पालन है खतरनाक
*नई किताब में किया जिक्र

ये चमगादड़ से निकला कोरोना वायरस तो दुनिया में कोहराम मचा ही रहा है, अब एक और वायरस का खतरा भी आ सकता है। ये है चिकन यानी मुर्गे से निकलनेवाला वायरस।
अमेरिका के एक बड़े वैज्ञानिक माइकल ग्रेगर ने दावा किया है कि कोरोना वायरस तो कुछ भी नहीं है, चिकन से निकलनेवाला यह वायरस सबसे खतरनाक है। यह वायरस आधी दुनिया को समाप्त कर देगा। वैज्ञानिक ने खुलासा किया है कि यह वायरस यदि एक बार फैल गया तो दुनिया की आधी आबादी को समाप्त कर देगा। ग्रेगर
अमेरिका के मशहूर न्यूट्रिशनिस्ट साइंटिस्ट हैं। उन्होंने इस तरह के वायरस का जिक्र अपनी आनेवाली नई किताब में किया है। बता दें कि हाल ही में चीन के वुहान स्थित विवादित वायरोलॉजी लैब की डिप्टी डायरेक्टर बैट वूमेन शी झेंगली ने भी दावा किया था कि नोवल कोरोना वायरस तो कुछ भी नहीं है, जीवों में इतने खतरनाक वायरस मौजूद हैं, जो बहुत ही खतरनाक साबित हो सकते हैं। अमेरिकी वैज्ञानिक ग्रेगर ने चेतावनी दी है कि बड़े पैमाने पर चिकन फार्मिंग की वजह से आनेवाले वक्त में सारी मानवता खतरे में पड़ सकती है। उन्होंने यह भी बताया कि चिकन फार्म से ऐसे-ऐसे खतरनाक वायरस निकलते हैं, जो दुनिया की लगभग आधी आबादी को समाप्त कर सकते हैं।
बता दें कि चमगादड़ों से इंसानों में आया नोवल कोरोना वायरस अब तक दुनिया में करीब 3 लाख 65 लोगों की जान ले चुका है और लगभग 60 लोगों को संक्रमित कर चुका है लेकिन फिर भी इसके प्रकोप के ठहरने के कोई आसार नजर नहीं आ रहे हैं। पेशे से न्यूट्रिशनिस्ट माइकल ग्रेगर ने अपनी नई किताब ‘How To Survive A Pandemic’ में कहा है कि बड़ी संख्या में मुर्गी पालन दुनिया के लिए और भी बड़ा खतरा हो सकता है। शाकाहारी खाना खाने को लेकर मुहिम चलानेवाले इस वैज्ञानिक ने कहा है कि हम जो मांस पर निर्भर हो चुके हैं, उससे नई महामारियों की आशंका बहुत ही ज्यादा बढ़ गई है।