आफत की बूंदों ने ढहाया घर, दंपति ने गंवा दी जान

उत्तर प्रदेश में कहर की बारिश जारी है। इससे अब तक हजारों परिवारों को अपना घर-द्वार छोड़कर स्थानांरित होना पड़ा है तो बड़ा इलाका अभी भी पानी में डूबा हुआ है। इस आसमानी आफत की बावजूद  बारिश जारी है।
अमेठी के पीपरपुर थानांतर्गत छीड़ा गांव में सुबह-सुबह एक घर के ढह गया। इसमें एक दंपति दबा हुआ था, जिसे काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया लेकिन तब तक उन्होंने दम तोड़ दिया था। यहां विभिन्न गांवों में मकान ढहने से आज तक ८ लोगों के मौत की सूचना है, वहीं सुल्तानपुर के गरएं में घर ढहने से लाखों रुपए की संपत्ति नष्ट हो गई। कुड़वार में एक व्यक्ति की जान चली गई और उसके बच्चे जख्मी हो गए। अभी तक यहां दंपति सहित १० लोग काल के गाल में समा चुके हैं। प्रतापगढ़ में शुक्रवार से आज तक वृद्ध सहित १० ग्रामीणों की मौत हो गई। अंबेडकरनगर में भी जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त होने की खबर है। लगभग यही हाल पूरे प्रदेश का है, जहां अब तक करीब ४८ लोगों को मौत हो चुकी है और ५० से ज्यादा लोग घायल हैं।

बिहार में बारिश का अलर्ट
पटना। बिहार में भारी बारिश ने जीवन अस्तव्यस्त कर दिया है। पटना में शुक्रवार रातभर हुई भारी बारिश से बाढ़ जैसी स्थिति हो गई है। शहर के सभी इलाके जलमग्न हैं। उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा के आवास में भी पानी भर गया। १५ जिलों में रेड अलर्ट घोषित किया गया है। पटना जंक्शन का रेलवे ट्रैक पानी में डूब गया। पानी भरने के चलते १२ से ज्यादा ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है। ६ ट्रेनें रद्द और पांच ट्रेनों का रास्ता बदला गया। बिहार में भारी बारिश को देखते हुए मौसम विभाग ने पटना, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, भागलपुर, पूर्णिया, बेतिया, गया, जमुई, औरंगाबाद और जहानाबाद समेत १५ जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है। इन सभी जिलों में एहतियात के तौर पर स्कूलों को ३० सितंबर तक बंद कर दिया गया है।