…इससे मेरा आत्मविश्वास बढ़ा! डेजी शाह

रमेश तौरानी और सलमान खान के निर्माण में बनी फिल्म `रेस ३’ के निर्देशक हैं रेमो डिसूजा। फिल्म १५ जून को रिलीज हो रही है। इस मल्टी स्टारर फिल्म में सलमान खान, अनिल कपूर, बॉबी देओल, साकिब सलीम के साथ जैकलीन फर्नांडिस और डेजी शाह मुख्य स्टारकास्ट हैं। डोंबिवली के मिडल क्लास परिवार से आई डेजी ने अपने अनुभवों के साथ फिल्म `रेस ३’ के अनुभवों को भी पूजा सामंत से शेयर किया। प्रस्तुत है बातचीत का प्रमुख अंश-
`रेस ३ के लिए आप पर कितना प्रेशर था ?
मुझे तो बेहद खुशी है कि `रेस’ फिल्म की फ्रेंचायजी के लिए मुझे कास्ट किया गया। मुझ पर भी कहीं न कहीं प्रेशर था कि मैं भी इस फिल्म में काम करके सफलता की र्इंट में मेरा नाम भी दर्ज करा दूं लेकिन `रेस ३’ की सबसे ज्यादा जिम्मेदारी तो सलमान खान, अनिल कपूर और बॉबी देओल पर रही।
`रेस ३’ एक एक्शन फिल्म है। आपने क्या तैयारियां की इन स्टंट्स को निभाने के लिए ?
`रेस ३’ के एक्शन्स किसी भी हॉलीवुड फिल्म के एक्शन को पछाड़ देगा। वाकई हैरतअंगेज है ! मैंने भी अपना फिजिकल फिटनेस बहुत बढ़ाया और बॉक्सिंग, किक बॉक्सिंग, एरियल किक, एक्रोबेट्स के साथ मार्शल ट्रेनिंग भी ली। मेरे लिए यह सब पहली बार और नया है क्योंकि मेरा रिश्ता तो अब तक डांसिंग-एक्टिंग से रहा है।
स्टंट्स सीखने में क्या मुश्किलें आर्इं ?
सलमान सर गोल्डन हार्टेड इंसान हैं। वे सभी की मदद के लिए तत्पर रहते हैं। अनिल कपूर से लेकर सलमान-बॉबी सभी ने इस फिल्म के लिए डबल मेहनत कर स्टंट्स सीखे हैं। अफसोस तो मुझे तब हुआ जब एक सीन के लिए मुझे चाकू जोर से घुमाने थे। मेरा चाकू जोर से घूम ही नहीं रहा था और इस सीन के अनगिनत रिटेक्स हुए।
सलमान ने आपकी क्या मदद की ?
मुझे लात और घूंसे भी मारने थे! जिसकी ट्रेनिंग में सलमान आगे बढ़े और सलमान ने मुझे सिखाया कि लात और घूंसे कैसे मारे जाते हैं।
सलमान के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा?
सलमान सर से आदर वाली मित्रता बन चुकी है। `जय हो’ फिल्म के बाद अब `रेस ३’ के लिए मैं उनके साथ कम्फर्टेबल हूं। मैं उनके मैनरिजमस , उनकी पसंद-न पसंद सब जान चुकी हूं।
आपका अब तक का अभिनय का सफर कैसा रहा?
मेरे जीवन की संघर्ष गाथा किसी से छुपी नहीं है। मेरे पिताजी ड्राइवर थे और मां गृहिणी। दसवीं क्लास की परीक्षा देने के बाद मैंने और मेरी छोटी बहन दीपाली ने टाइमपास करने के लिए एक लोकल ब्यूटी कॉन्टेस्ट में हिस्सा लिया और वो कॉन्टेस्ट मैंने जीत लिया। इससे मेरा आत्मविश्वास बढ़ा और कोरियोग्राफर गणेश आचार्य ने मुझे अपना सहायक कोरियोग्राफर नियुक्त कर लिया। मैं सहायक कोरियोग्राफर से मेन कोरियोग्राफर बनी और इसी की अगली शृंखला थी फिल्म `जय हो’ के लिए सलमान सर ने मुझे लीड एक्ट्रेस का मौका दिया।