‘इस अनुभूति से मैं फिलहाल गुजर रहा हूं’ – कार्तिक आर्यन

आजकल के चर्चित और हैंडसम अभिनेता कार्तिक आर्यन को युवा पीढ़ी अपना हार्टथ्रोब मान चुकी है। खासकर लड़कियां कार्तिक को बेहद पसंद करती हैं। २०११ में कार्तिक आर्यन का डेब्यू फिल्म ‘प्यार का पंचनामा’ से हुआ था। इस फिल्म के बाद कार्तिक के करियर से फिल्मों की सफलता ने जैसे मुंह मोड़ लिया था। २०१८ में फिल्म ‘सोनू के टीटू की स्वीटी’ की सफलता से कार्तिक ठेठ ‘ए’ ग्रेड के एक्टर बने और फिर २०१९ में आई फिल्म ‘लुकाछिपी’ से भी कार्तिक की सफलता का परचम लहराता नजर आया। कार्तिक की फिल्म ‘पति, पत्नी और वो’ ६ दिसंबर को रिलीज होने जा रही है। पेश है कार्तिक से हुई पूजा सामंत की बातचीत के प्रमुख अंश-

आपकी फिल्म ‘पति, पत्नी और वो’ के साथ ही आशुतोष गोवारिकर की ‘पानीपत’ भी ६ दिसंबर को रिलीज हो रही है। इस पर आपका क्या कहना है?
इस बारे में कुछ कहना छोटा मुंह बड़ी बात होगी। एक वर्ष में कितने फ्राइडे होते हैं? फिल्में ३०० तक होती हैं। श्राद्ध के महीने में कई बार मेकर्स फिल्म रिलीज नहीं करते। कुछ मजबूरियां भी होती हैं। अब फिल्म बनने के बाद हर मेकर की कोशिश यही रहती है कि वो अपनी फिल्म को जल्द-से-जल्द रिलीज करें। वैसे, यह जरूरी नहीं कि अगर एक ही फ्राइडे को दो फिल्में रिलीज हों तो एक ही सफल हो और दूसरी फ्लॉप। बरसों पहले ‘लगान’ और ‘गदर’ एक ही दिन रिलीज हुई और दोनों चलीं। हाल ही में ‘मिशन मंगल’ और ‘बाटला हाउस’ दोनों फिल्में एक ही दिन १३ अगस्त को रिलीज हुई। दोनों ही फिल्मों को पब्लिक ने हाथों-हाथ लिया इसीलिए मैंने इस बात को ज्यादा गंभीरता से नहीं लिया। उम्मीद है दोनों फिल्में चल जाएंगी।

‘पति, पत्नी और वो’ में आप मशहूर एक्टर संजीव कुमार बने हैं। इसके लिए आपने क्या तैयारियां कीं उनके जैसा दिखने और बनने के लिए?
१९७८ में बी.आर. चोपड़ा ने ‘पति, पत्नी और वो’ फिल्म का निर्माण और निर्देशन किया। फिल्म में संजीव कुमार, विद्या सिन्हा और रंजीता थे। इस फिल्म को अच्छी-खासी सफलता मिली। इस फिल्म का रीमेक भी कमाल का बनेगा। ये आयडिया अक्षय कुमार ने जूनो चोपड़ा (बी.आर. चोपड़ा के पोते और रवि चोपड़ा के बेटे) और टी. सीरीज के भूषण कुमार से शेयर की। उन्हें भी ये आयडिया पसंद आई और इसके रीमेक में मैं, भूमि पेडणेकर और अनन्या पांडे हैं और इसे निर्देशित किया है मुदस्सर अजीज ने। चूंकि फिल्म आज के परिवेश में बनी है इसलिए मुझे संजीव कुमार जैसा बनना या दिखना नहीं था। काफी सारे परिवर्तन हुए किरदार में। मेरे किरदार का नाम है चिंटू त्यागी! सारे डिटेल्स अगली मुलाकात में शेयर करूंगा।

फिल्म ‘सोनू के टीटू की स्वीटी’ की सफलता से आपके जीवन और करियर में आए किन बदलावों को आपने महसूस किया?
फिल्म ‘सोनू के टीटू की स्वीटी’ को इस कदर पसंद किया जाएगा, ये किसी ने सोचा नहीं था। फिल्म ‘लुकाछिपी’ भी सफल रही। २०११ तक मेरी पहचान नहीं थी और २०१९ तक मैं नामी एक्टर बन गया। मुझे अब फिल्मों के नए-नए प्रस्ताव आ रहे हैं। करण जौहर ने मुझे फिल्म ‘दोस्ताना-२’ के लिए साइन किया। यह मेरे करियर में एक सुखद और सकारात्मक मोड़ है। मैं इसे एन्जॉय कर रहा हूं और उम्मीद करता हूं कि २०२० में एक कदम और आगे बढूंगा। ‘दोस्ताना-२’ के दो शेड्यूल पूरे हो चुके हैं और ये फिल्म २०२० में रिलीज हो रही है। ये भी सीक्वेल है ‘दोस्ताना-१’ का।

‘सोनू के टीटू की स्वीटी’ की सफलता के बाद आपकी पैâन फॉलोइंग में जबरदस्त इजाफा हुआ है और फीमेल फैन संख्या बहुत बढ़ी है। इसे आप किस रूप में लेते हैं?
इट्स ग्रेट फीलिंग! सुना है कि किसी जमाने में देव आनंद, राजेश खन्ना पर उस दौर की महिलाएं और लड़कियां बेहद फिदा थीं। इस एहसास से एनर्जी और स्ट्रेंथ मिलता है। इस अनुभूति से मैं फिलहाल गुजर रहा हूं।

आपकी और सारा अली खान की दोस्ती सोशल मीडिया पर देखने को मिल रही थी लेकिन अब सुनने में आया है कि अब आप स्प्लिट हो गए हैं?
मेरी तरह सारा भी बॉलीवुड में नई है। मुझे रियलाइज हुआ कि हमें फिलहाल अपने करियर पर फोकस करना चाहिए। इससे ज्यादा इस मुद्दे पर मैं कुछ और कहना नहीं चाहूंगा।

रीयल नेम – कार्तिक तिवारी
जन्मतिथि – २२ नवंबर, १९९०
जन्मस्थान – ग्वालियर
कद – ५ फुट १० इंच वजन – ६८
प्रिय रंग – डार्क ब्राउन, रेड, क्रीम, ब्लैक
पसंदीदा व्यंजन – चायनीज और पिज्जा के साथ ही अपना देसी खाना भी पसंद है।
प्रिय डेजर्ट – चॉकलेट, मैंगो जूस
मनपसंद पर्यटन स्थल– भेड़ाघाट, डलहौजी, लंदन
प्रिय कलाकार – अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान
हॉबी – दोस्तों से गपशप करना