" /> ईस्टर्न पोल्ट्री समिति ने बर्ड फ्लू को बताया अफवाह, काशीवासियों को कराया 5 क्विंटल चिकन का भोज

ईस्टर्न पोल्ट्री समिति ने बर्ड फ्लू को बताया अफवाह, काशीवासियों को कराया 5 क्विंटल चिकन का भोज

शहर के परेड कोठी इलाके में ईस्‍टर्न पोल्‍ट्री समि‍ति‍ की ओर से शनिवार को पांच कुंतल चि‍कन भोज का आयोजन कि‍या गया । ये भोज एक खास मकसद को ध्यान में रखते हुए कि‍या गया। बता दें कि‍ हाल ही में वाराणसी में कौवों में मि‍ले बर्ड फ्लू के लक्षण को देखते हुए ये अफवाह फैलाई गयी थी कि‍ मुर्गों में भी बर्ड फ्लू फैल गया है। इस संदर्भ में वाराणसी के मुख्‍य पशु चि‍कि‍त्‍सक की ओर से जगह जगह सैंपल लेकर जांच के बाद इस अफवाह का खंडन कि‍या गया था। बावजूद इसके लोगों ने चि‍कन से दूरी बना ली है। लोगो में बर्ड फ्लू को लेकर उत्पन्न भय को दूर करने के लिए समि‍ति‍ ने इस भोज7 का आयोजन कि‍या ।
बता दें कि‍ 10 फरवरी को मोहनसराय में मृत मिले कुछ कौवों में से एक कौवे में बार्ड फ़्लू की पुष्टि हुई थी। इसके बाद पोल्‍ट्री उद्योग से जुड़े लोगों में हड़कंप मचा हुआ है।
पशु चिकित्साधिकारी की मानें तो बनारस में अभी किसी मुर्गे में बर्ड फ़्लू के लक्षण नहीं पाए गए हैं। बावजूद इसके शहर में उड़ी बर्ड फ़्लू की अफवाह से पोल्ट्रीफार्म उद्योग से जुड़े लोगों को भारी घाटा हो रहा है।
इस घाटे से उबरने और आम जान मानस को इस अफवाह की सच्चाई बताने के लिए ईस्टर्न पोल्ट्री समिति शनि‍वार को काशी की जनता के लिए अनोखा आयोजन किया। जिसके तहत परेड कोठी इलाके में 5 कुंतल चिकन से बने व्यंजन आम जनता को भरपेट खिलाये गए, साथ ही यहां लोगों को ब्वायल अंडा भी परोसा गया। ईस्टर्न पोल्ट्री समिति के सदस्यों की माने तो इस दौरान यहाँ जनता को समझाने के लिए पशु चिकित्साधिकारी डॉ बीवी सिंह भी अपनी टीम के साथ मौजूद रहेंगे।
इस सम्बन्ध में बात करते हुए ईस्टर्न पोल्ट्री समिति के सदस्य अनुपम सिंह ने बताया कि देश की अर्थव्यवस्था में कुकुट उद्योग चौथा सबसे बड़ा सहायक उद्योग है। कुछ दिन पहले समाचार के माध्यम से फैली खबर कौए में बर्ड फ़्लू से आम जन मानस सहमा हुआ है और उससे कुकुट उद्योग को खासा नुक्सान पहुँच रहा है। हम अपनी लागत भी नहीं निकाल पा रहे हैं।
इस अफवाह से आमजन मानस को जागरूक करने के लिए आज ईस्टर्न पोल्ट्री समिति ने 5 कुंतल चिकन के आइटम बनाकर आम जन मानस को परोसने की योजना बनायी है।