उद्देश्य अच्छा होना चाहिए!

मल्लिका शेरावत इन दिनों ७१वें कान फिल्म फेस्टिवल के लिए कान में मौजूद हैं, लेकिन वहां से उन्होंने एक ऐसा वीडियो पोस्ट किया है, जो ग्लैमर और स्टाइल के इस मेले में कम ही दिखाई देता है। मल्लिका इस वीडियो में एक पिंजरे में बंद नजर आ रही हैं और एक जरूरी संदेश दे रही हैं। अगर आप पिंजरे को देखेंगे को इसके बाहर लिखा है, `लॉक मी अप, फ्री अ गर्ल।’ यानी मुझे बंद कर दो, मगर एक लड़की को आजाद कर दो। इस संदेश से आप इतना तो समझ गये होंगे कि मल्लिका ने बच्चियों की आजादी के लिए खुद को पिंजरे में वैâद किया है। दरअसल अपने इस एक्ट से मल्लिका दुनियाभर को बच्चों पर अत्याचार बंद करने का संदेश दे रही हैं। वीडियो में पिंजरे से मल्लिका कहती हैं `मैं इस पिंजरे में कैद हूं। इसका साइज २ मीटर्स है, जो भारत में ऐसे ही एक कमरे का प्रतिरूप है, जिसमें छोटी बच्चियों को जबरन बंद करके रखा जाता है और उन्हें प्रोस्टिट्यूशन में धकेल दिया जाता है। कृपया लड़कियों को इससे छुड़ाने में मदद करें। न्याय के इस काम में मदद करें।’