उद्धव ठाकरे का कांग्रेस पर कटाक्ष, जो ६० साल में न हुआ हमने ५ साल में किया!

दशहरा सम्मेलन के बाद शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे की तोप कल संगमनेर, श्रीरामपुर, पारनेर और नगर में हुई प्रचार सभा में एक बार फिर गरजी। इन सभाओं को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस और राकांपा पर जमकर निशाना साधा। संगमनेर की सभा में कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि ६० वर्षों में कांग्रेस जो काम नहीं कर पाई, वह हमने युति सरकार के ५ वर्षों के कार्यकाल में कर दिखाया है। कांग्रेस को ६० वर्ष देने के बावजूद महाराष्ट्र तड़प रहा है तो तुम्हें वोट कौन देगा? ऐसा सवाल करते हुए उन्होंने राज्य में किए गए विकास कार्यों के लिए युति सरकार की पीठ भी थपथपाई। कल उन्होंने कांग्रेस-राकांपा आघाड़ी के घोषणापत्र का भी पंचनामा किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस-राकांपा के नेता बेरोजगार हो गए हैं। बेरोजगार होने के बाद उन्हें अब भूमिपुत्रों की याद आने लगी है। बेरोजगारी क्या है? ये अब उन्हें पता चल गया है। सही मायने में बेरोजगारों को रोजगार का मौका उपलब्ध कराने का काम युति सरकार के कार्यकाल में हो रहा है। उन्होंने आगे कहा कि सिर्फ सरकार ही नहीं, बल्कि विकास का प्रतिबिंब भी संगमनेर में दिखाना है। उद्धव ठाकरे के ऐसा कहते ही पूरा परिसर तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा।

शिवतीर्थ पर हुए दशहरा सम्मेलन के बाद कल शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने संगमनेर, श्रीरामपुर, पारनेर और नगर में आयोजित शिवसेना-भाजपा महायुति प्रत्याशियों की प्रचार सभा में हुंकार भरी। शिवसेना-भाजपा के बीच हुई युति की बात उन्होंने फिर से दोहराई। उन्होंने कहा कि हिंदुत्व और भगवा की खातिर हम एक साथ आए। लोकसभा चुनाव से पहले हमारे बीच कुछ अनबन रहा होगा फिर भी हम साथ रहे क्योंकि युति की डोर हिंदुत्व से बंधी हुई है। भाजपा खत्म हो जाएगी, ऐसा वातावरण लोकसभा चुनाव से पहले बनाया गया लेकिन भगवा की खातिर हम उनके साथ खड़े रहे और हमारी मजबूत सरकार दोबारा केंद्र में लाई। साथ ही विधानसभा चुनाव में भी २०० से ज्यादा सीटें महायुति जीतकर रहेगी, ऐसा विश्वास भी उन्होंने जताया।

कल शिवसेना-भाजपा महायुति प्रचार सभा की शुरुआत हो गई। संगमनेर, श्रीरामपुर, पारनेर और नगर में एक ही दिन हुई चार सभाओं को उद्धव ठाकरे ने संबोधित किया। इस दौरान उनके साथ तेजस ठाकरे भी मौजूद थे। सभा को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने कांग्रेसी नेताओं की जमकर खिंचाई की। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष बालासाहेब थोरात से लेकर सुशीलकुमार शिंदे को भी उन्होंने नहीं बख्शा। स्वयं को वीर बाजीप्रभु की उपमा देनेवाले कांग्रेसी नेता बालासाहेब थोरात पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसी उपमा लेने से पहले खुद में उतना सामर्थ्य होना चाहिए। उनके साथ अपनी तुलना तुम वैâसे कर सकते हो? चुनाव आया तो वीर बाजीप्रभू याद आ गए, थोरात की करामात सभी को पता है। तुम्हारा नेता बैंकॉक पहुंच गया है और अब तुम भी घर जाओ, ऐसा कटाक्ष भी उद्धव ठाकरे ने किया। कांग्रेसी नेता सुशील कुमार शिंदे के बयानों का उल्लेख करते हुए उद्धव ठाकरे ने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा कि वे खाकर थक गए हैं इसलिए अब उनके सामने घर बैठने की नौबत आ गई है। ५ वर्षों के कार्यकाल में युति सरकार में अच्छे विकास कार्य हुए हैं। नए काम हमने किए हैं।

विद्यार्थियों से लेकर गोर गरीबों तक किसे क्या मिलेगा? इसका संकल्प भी उद्धव ठाकरे ने कल इन सभाओं में घोषित किया। उन्होंने कहा कि सत्ता आने के बाद राज्य के गरीबों को १० रुपए में भोजन थाली उपलब्ध कराई जाएगी। ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थियों के लिए बस सेवा शुरू की जाएगी। सिर्फ एक रुपए में स्वास्थ्य जांच होगी। ३०० यूनिट तक के बिजली बिल दर में ३० प्रतिशत की कमी की जाएगी। उद्धव ठाकरे ने एक बार फिर शिवसैनिकों से माफी मांगते हुए कहा कि युति के चलते जिन सीटों पर शिवसैनिकों ने मेहनत की, वो भाजपा के लिए छोड़नी पड़ी। ऐसे शिवसैनिकों से मैं क्षमा मांगता हूं। उन्होंने कहा कि हम हिंदुत्व के लिए एक साथ हैं इसलिए महायुति के लिए शिवसैनिकों को काम करना है, ऐसा आह्वान भी उद्धव ठाकरे ने किया।