" /> उल्हासनगर के ऑटोरिक्शा चालकों में अर्सेनिक अल्बम-30 होम्योपैथी दवा की 1,000 ख़ुराक निःशुल्क वितरित

उल्हासनगर के ऑटोरिक्शा चालकों में अर्सेनिक अल्बम-30 होम्योपैथी दवा की 1,000 ख़ुराक निःशुल्क वितरित

कोरोना काल में आत्मबल बढ़ाने के लिए रामबाण साबित हो रही अर्सेनिक अल्बम-30 की खुराक पूरे उल्हासनगर में जन-जन तक बांटी जा रही है। उल्हासनगर के 7,000 ऑटोरिक्शा चालकों व उन पर आश्रित 28,000 परिवारजनों को अब तक दवा का वितरण किया जा चुका है। शेष रिक्शाचालकों में 1,000 पैकेट दवा का वितरण डॉक्टर साधना गायकर ने कर साबित कर दिया कि वे भी कोरोना योद्धाओं की ही तरह कोरोना काल में लोगों में कोरोना से लड़ने के लिए दम भरने का कार्य कर रही हैं।
शिवसेना समर्पित रमाकांत चव्हाण ऑटोरिक्शा चालक-मालक युनियन के अध्यक्ष रवींद्रसिंह भुल्लर उर्फ पिंकी, दिलीप शुक्ला और पदाधिकारीयों की उपस्थिति में वितरण किया गया। कोरोना वायरस संक्रमण के विरुद्ध स्वयं के बचाव के लिए कोरोना रोग निरोधक दवाई के रूप में भारत सरकार के आयुष मंत्रालय द्वारा मान्यताप्राप्त अर्सेनिक अल्बम-30 नामक होम्योपैथी दवाई की निशुल्क ख़ुराक देने के लिए उल्हासनगर की महिला डॉ. साधना गायकर सर्वप्रथम आगे आईं। इसके पहले भी उल्हासनगर मनपा आयुक्त, पुलिस उपायुक्त परिमंडल-4, उल्हासनगर सहायक पुलिस आयुक्त, हिललाइन पुलिस स्टेशन, विट्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन, उल्हासनगर मनपा कार्यालय के कर्मचारियों, अधिकारियों और आशा वर्कर ये जो सभी कोरोना योद्धा बनकर लड़ रहे हैं, उनकी सेहत की मंगल कामना करते हुए डॉक्टर साधना गायकर के द्वारा 1,300 पैकेट पिछले महीने निशुल्क वितरित की जा चुकी हैं।