एंबुलेंस ले रही जेब की जान

मरीज को अस्पताल पहुंचाने के लिए परिवारवालों द्वारा एंबुलेंस के किराए का मोल भाव नहीं किया जाता। मोलभाव न कर पाने की वजह से परिवारवालों को चालकों को उनका मुंहमांगा किराया अदा करना पड़ता है। ऐसी कई शिकायतें ठाणे आरटीओ के पास आ चुकी हैं जिसमें नागरिकों की जेब की जान एंबुलेंस ले रही है इसीलिए ठाणे आरटीओ ने
`ऑपरेशन एंबुलेंस’ चलाया है जिसके तहत आरटीओ ने प्रति किलोमीटर के हिसाब से एंबुलेंस की दर निर्धारित की है। उसी दर अनुसार नागरिक एंबुलेंस का किराया दे सकते हैं।
ठाणे उपप्रादेशिक परिवहन अधिकारी नाईक ने कहा कि एयर कंडीशन (एसी) मारुति वैन एंबुलेंस का किराया दस किमी तक दो हजार रुपए तय किया गया है, १० से २० किमी तक तीन हजार रुपए, २० से ३० किमी तक चार हजार रुपए और ३० किमी से अधिक होने पर ५५ रुपए प्रति किमी किराए का भुगतान करना होगा। आगे उन्होंने कहा कि टाटा सूमो और मेटाडोरवाले बिना एसी के एंबुलेंस से मरीजों को १० किमी तक के अंतराल में अस्पताल ले जाने पर परिजनों को ६०० रुपए, १० से २० किमी तक १२०० रुपए, २० से ३० किमी तक १६०० रुपए और ३० किमी से अधिक का सफर तय करने पर प्रति किमी अतिरिक्त २३ रुपए के किराए का भुगतान करना होगा। वहीं इस तरह के टाटा ४०७ और स्वराज माजदा जैसे एंबुलेंसों से १० किमी तक अस्पताल पहुंचाने पर ७०० रुपए, १० से २० किमी तक १,३०० रुपए, २० से ३० किमी तक १,७०० रुपए और ३० किमी से आधिक होने पर २५ रुपए अधिक किराया देना पड़ेगा। इसी तरह कल्याण, भिवंडी, मीरा-भाइंदर, वसई और अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में बिना एसीवाले मारुति वैन एंबुलेंस से १० किमी तक अस्पताल पहुंचाने पर ४०० रुपए, १० से २० किमी तक ८०० रुपए, २० से ३० किमी तक १,२०० रुपए और ३० किमी से अधिक होने पर प्रतिकिमी १८ रुपए अतिरिक्त भुगतान करना होगा। वहीं आईसीयू एंबुलेंस से दस किमी तक अस्पताल ले जाने पर १,८०० रुपए, १० से २० किमी तक २,६०० रुपए, २० से ३० किमी तक ३५०० रुपए और ३० किमी से अधिक होने के बाद प्रति किमी ५० रुपए अतिरिक्त किराया देना पड़ेगा। उसी प्रकार टाटा सुमो और मेटाडोर जैसे एंबुलेंस १० किमी तक अस्पताल पहुंचाने पर ४५० रुपए, १० से २० किमी होने पर ९०० रुपए, २० से ३० किमी तक १,३५० रुपए और ३० किमी से अधिक होने पर प्रति किमी २० रुपए अतिरिक्त देना होगा। वहीं टाटा ४०७, स्वराज माजदा आदि एसीवाले एंबुलेंसों से १० किमी तक अस्पताल ले जाने पर ५०० रुपए, १० से २० किमी तक १००० रुपए, २० से ३० किमी तक १,५०० रुपए, ३० किमी से अधिक होने पर प्रति किमी २२ रुपए अधिक किराया भुगतान करना होगा।