एक्सिडेंटल एफआईआर!

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह पर आधारित फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ रिलीज से पहले एक बार फिर विवादों में फंसती दिख रही है। बिहार के मुजफ्फरपुर कोर्ट ने फिल्म के अभिनेता अनुपम खेर समेत १६ लोगों के खिलाफ केस दर्ज करने का आदेश दिया है। कोर्ट के इस आदेश के बाद जिले के कांटी थाने में इन सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। फिल्म के खिलाफ अधिवक्ता सुधीर ओझा ने मुकदमा दर्ज कराया था। मुकदमा में वादी ने फिल्म में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की छवि खराब करने और देश की छवि से खिलवाड़ करने का भी आरोप लगाया था। अधिवक्ता सुधीर ओझा ने आरोप लगाया है कि पूर्व पीएम मनमोहन सिंह समेत देश की कई नेताओं की छवि को बिगाड़ने की नियत से ही यह फिल्म बनाई गई है। फिल्म में देश की सुरक्षा व्यवस्था के साथ भी खिलवाड़ किया गया है। एसडीजेएम वेस्ट की अदालत में दायर किए गए इस परिवाद में फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग की गई है। इस फिल्म में अनुपम खेर, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का किरदार निभा रहे हैं।
इस फिल्म में अमर सिंह का भी अहम किरदार है। संजय बारू की किताब पर बनी फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ पर राज्यसभा सांसद अमर सिंह का कहना है कि फिल्म सच के बेहद करीब है। अमर सिंह का दावा है कि फिल्म में उनका किरदार निभाने के लिए खुद उनको ही ऑफर दिया गया था लेकिन उन्होंने किसी को दिए गए वादे के कारण फिल्म करने से मना कर दिया। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और यूपीए सरकार पर बनी यह फिल्म ट्रेलर लॉन्च के साथ ही विवादों में आ गई थी। फिल्म के कंटेंट पर महाराष्ट्र यूथ कांग्रेस ने सवाल उठाए थे। उसके बाद भाजपा की अलीगढ़ यूनिट ने मांग की थी कि ‍बढ़ते विवाद को देखते हुए अनुपम खेर और ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ की टीम को सुरक्षा मुहैया कराई जाए।