एक रोड ब्लॉक, खतरे में २००० परिवार

मुंबई के रिहायशी इमारतों में आग लगने की निरंतर घटनाएं घट रही हैं। इस हादसे में सोसायटी के लोग अपनी जान भी गवां रहे हैं। इन हादसों से भी मनपा प्रशासन सीख नहीं ले रहा है। इसका ताजा उदाहरण साकीनाका की एक हाउसिंग सोसायटी में देखने को मिल रहा है। यहां महज एक रोड ब्लॉक ने पूरे सोसायटी को हादसे के मुहाने पर खड़ा कर दिया है। हालांकि इसकी शिकायत मनपा के अतिक्रमण विभाग से की गई है लेकिन अब तक इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है।
बता दें कि घाटकोपर-अंधेरी लिंक रोड पर न्यू अनासागर हाउसिंग सोसायटी है। इस सोसायटी के मातहत चार इमारतों की को. ऑपरेटिव सोसायटी आती हैं। अकील, अतील, खैरुन और अकबर मेंशन इन इमारतों के तीन विंग में दो हजार परिवार रहते हैं। इन इमारतों के निवासियों के लिए प्रवेश और निकासी के लिए एक ही मार्ग है जो घाटकोपर-अंधेरी लिंक रोड से सटा है। बताया जाता है कि इस सोसायटी के निर्माण के समय मनपा को सौंपे गए प्लान में निकासी मार्ग का उल्लेख किया गया है जो १८.३० मीटर्स रोड से जुड़ा था लेकिन इस निकासी मार्ग पर १० फुट उंची दीवार बन गई। इस दीवार से पूरा निकासी मार्ग ब्लॉक हो गया है। शुरुआत में यहां के निवासी निकासी के लिए यहां स्थित अजमेरी मस्जिद के रास्ते का इस्तेमाल करते थे। यह रास्ता मस्जिद के अंदर से होकर गुजरता था। इसको लेकर उठे आपत्ति पर मस्जिद ट्रस्ट ने न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। न्यायालय ने मस्जिद ट्रस्ट के पक्ष में पैâसला सुनाते हुए यहां से गुजरने पर लोगों पर रोक लगा दी। मस्जिद का रास्ता बंद होने तथा दीवार से ब्लॉक हुए निकासी मार्ग की वजह से अब इमारत के निवासी प्रवेश मार्ग से बाहर जा रहे हैं। ऐसे में अगर कोई बड़ी आग की घटना या अन्य हादसा होता है तो निकासी के लिए वैकल्पिक मार्ग न होने से लोगों की जान पर खतरा बना हुआ है। इस संबंध में अतिक्रमण विभाग के सहायक मनपा आयुक्त किशोर गांधी ने उचित कार्रवाई करने की बात कही है।

 १९ वर्ष पुरानी हैं इमारतें
 निकासी मार्ग पर बनी दीवार से हो गया रोड ब्लॉक
 दो हजार परिवार रहते हैं।