एक से १० हजारी

टीम इंडिया के खिलाफ सिडनी में खेले गए तीन मैचों की वनडे श्रृंखला के पहले मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने ३४ रन से जीत दर्ज की। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने कल टीम इंडिया को २८९ रन का लक्ष्य दिया था लेकिन टीम इंडिया ५० ओवर में ९ विकेट पर २५४ रन ही बना सकी। इस तरह आस्ट्रेलिया अंतरराष्ट्रीय एक दिवसीय क्रिकेट मैचों में १०००वीं जीत दर्ज करनेवाली इकलौती टीम बन गई है। ऑस्ट्रेलिया ने अब तक कुल १८५२ अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय क्रिकेट मैच खेले हैं, जिसमें ५९३ मैच में उसे हार मिली। आस्ट्रेलिया के बाद इंग्लैंड ने १८३३ मैच खेले हैं जिनमें ७७४ में ही उन्हें जीत मिली। ६७६ में इंग्लैंड की टीम हार गई, ९ मैच टाई रहे जबकि ३४५ मैच ड्रॉ हुए। इसके बाद टीम इंडिया ने १५९७ मैंचों में ७११ मैच जीते हैं जबकि १४६४ मैचों में ७०२ जीत के साथ पाकिस्तान चौथे क्रमांक पर है। कल के मैच में रोहित शर्मा ने सबसे ज्यादा १३३ रन बनाए लेकिन उनके शतक के बावजूद टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा। उन्होंने करियर का २२वां शतक लगाया। इस मामले में उन्होंने सौरव गांगुली के २२ शतकों की बराबरी कर ली है। हिंदुस्थानियों में उनसे आगे विराट कोहली (३८) और सचिन तेंडुलकर (४९) हैं। इससे पहले टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम ने ५० ओवर में पांच विकेट पर २८८ रन बनाए थे। उसके लिए पीटर हैंड्सकॉम्ब (७३), उस्मान ख्वाजा (५९ रन) और शॉन मार्श (५४) ने अर्धशतकीय पारियां खेलीं। हिंदुस्थान की ओर से कुलदीप यादव और भुवनेश्वर कुमार ने दो-दो विकेट लिए। २८९ रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही। टीम ने शुरुआती चार ओवर में तीन विकेट खो दिए। शिखर धवन पहले और कप्तान विराट कोहली और अंबाती रायुडू चौथे ओवर में पवेलियन लौट गए। महेंद्र सिंह धोनी और रोहित शर्मा ने पारी को संभाला। दोनों ने चौथे विकेट के लिए १३७ रन की साझेदारी की। वहीं, धोनी ने २२ मैच बाद अर्धशतक लगाया। उन्होंने पिछला अर्धशतक दिसंबर २०१७ में श्रीलंका के खिलाफ धर्मशाला में लगाया था। धोनी ने इस मैच में अपना एक रन बनाते ही १० हजार एकदिवसीय रन पूरे कर लिए। वे ऐसा करनेवाले टीम इंडिया के पांचवें बल्लेबाज हैं। उनसे पहले सचिन तेंडुलकर, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और विराट कोहली ऐसा किया है। टीम इंडिया के लिए उनके १०,०५० रन हो गए।