एग्जिट पोल के आंकड़े भी कम, एनडीए की होगी प्रचंड जीत, उद्धव ठाकरे का दृढ़ विश्वास

एग्जिट पोल में जो आंकड़े दिखाए गए हैं, आज जब परिणाम आएंगे तो वे आंकड़े भी कम पड़ेंगे, शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने इन शब्दों में एनडीए की प्रचंड जीत का विश्वास व्यक्त किया।
बीड़ जिला के राकांपा के ताकतवर नेता जयदत्त क्षीरसागर सपरिवार कल शिवसेनापक्षप्रमुख की उपस्थिति में शिवसेना में शामिल हुए। उद्धव ठाकरे ने शिवबंधन बांधकर उनका स्वागत किया। इस दौरान उद्धव ठाकरे ने पत्रकारों से बातचीत की। एग्जिट पोल पर पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवाल पर उन्होंने पत्रकारों से ही पूछ लिया कि एग्जिट पोल किसके पक्ष में है? जवाब आया ‘एनडीए’। तब उन्होंने कहा कि आप जो आंकड़े एग्जिट पोल में बता रहे हैं, वो आंकड़े आज आनेवाले परिणाम में भी कम पड़ेंगे। ईवीएम पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने उल्टा मीडिया से ही सवाल किया कि आपके द्वारा जो एग्जिट पोल घोषित किया गया है, वह ईवीएम की मतगणना के आधार पर तो नहीं किया है न?

जयदत्त क्षीरसागर ने कलाई से घड़ी उतारी और शिवबंधन बांधा, राकांपा छोड़ शिवसेना में किया प्रवेश
मराठवाड़ा में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है। बीड़ जिले की राजनीति में पांच दशक से दबदबा रखनेवाले राकांपा विधायक जयदत्त क्षीरसागर ने कल शिवसेना भवन पहुंचकर शिवसेना में प्रवेश किया। अपने पूरे परिवार सहित शिवसेना में प्रवेश करनेवाले जयदत्त क्षीरसागर को शिवबंधन बांधकर शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने उनका स्वागत किया। स्थापना से लेकर जिस पक्ष को बढ़ाया उस पक्ष में अन्याय व अपमान होने लगा। संयम की सीमा पार हो गई। इसलिए बचपन से जिस पक्ष को लेकर आकर्षण था, उस शिवसेना में प्रवेश किया, ऐसा जयदत्त क्षीरसागर ने कहा।
बीड़ जिले में राकांपा के ताकतवर नेता माने जानेवाले जयदत्त क्षीरसागर चार बार से विधायक हैं। राकांपा में चल रही गुटबाजी से परेशान होकर शिवसेना में प्रवेश करने का निर्णय उन्होंने लिया। लोकसभा चुनाव में शिवसेना सांसद चंद्रकांत खैरे का सार्वजनिक रूप से प्रचार किया। उसके बाद कल संपूर्ण परिवार सहित शिवसेना में प्रवेश किया। इस अवसर पर शिवसेना नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे, सांसद संजय राऊत, सार्वजनिक निर्माण मंत्री एकनाथ शिंदे, उपनेता नीलम गोर्‍हे, सांसद अरविंद सावंत, शिवसेना सचिव मिलिंद नार्वेकर, सांसद अनिल देसाई आदि उपस्थित थे।

`बीड़ जिले में शिवसेना को मजबूत करो’
शिवसेना का परिवार बढ़ रहा है, विश्वसनीयता बढ़ रही है। जयदत्त क्षीरसागर का परिवार घर तक सीमित नहीं, उनका परिवार महाराष्ट्र भर में पैâला है। अपने पक्ष के लिए एकनिष्ठ रहे, परंतु अपने ऊपर हुए अन्याय को व्यक्त किया। शिवसेना के विषय में आकर्षण था इसलिए शिवसेना में आए। शिवसेना पर दिखाया गया विश्वास कभी अंधविश्वास नहीं होता इसलिए शिवसेना को अधिक बलवान करने की जवाबदारी तुम पर डालेंगे। बीड़ जिले में शिवसेना को मजबूत करो, भविष्य में शिवसेना के लिए जो अच्छे स्वप्न देखे हैं, उस स्वप्न में तुम्हें अवश्य शामिल करेंगे, ऐसा आश्वासन देते हुए उद्धव ठाकरे ने क्षीरसागर का शिवसेना में स्वागत किया।

शिवबंधन की गांठ अटूट रखेंगे
शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने जो शिवबंधन बांधा है, उस बंधन की गांठ को अटूट व मजबूत रखने का प्रयत्न करता रहूंगा। लोकसभा एग्जिट पोल के कारण नहीं, बल्कि शिवसेना में आने का निर्णय बहुत पहले लिया था। जिस पक्ष को स्थापना से लेकर बढ़ाया, उस पक्ष में अन्याय व अपमान होने लगा। कार्यकर्ताओं का अपमान होने लगा। यह बात परिवार तक पहुंच गई। संयम की सीमा पार हो गई। इसके बाद जाति-पांति को नहीं माननेवाली, काम और निष्ठा को प्रधानता देनेवाली पार्टी शिवसेना में प्रवेश करने का निर्णय लिया। हिंदूहृदयसम्राट माननीय शिवसेनाप्रमुख श्री बालासाहेब ठाकरे और शिवसेना को लेकर बचपन से ही आकर्षण था। आखिर में शिवसेना में प्रवेश का योग जुड़ गया। केवल मराठवाड़ा नहीं, संपूर्ण महाराष्ट्र में शिवसेना की ताकत बढ़ाने के लिए प्रचार करूंगा, ऐसा जयदत्त क्षीरसागर ने कहा।