" /> एमआईडीसी में अंडों के साथ मिली मादा अजगर

एमआईडीसी में अंडों के साथ मिली मादा अजगर

महाराष्ट्र में मॉनसून ने दस्तक दे दी है और बारिश के मौसम में हर कोई अपने आप को सुरक्षित स्थान पर ले जाना चाहता है। इसी प्रकार पशु-पक्षी और सांप-अजगर भी अपने लिए सुरक्षित ठिकाने ढूंढते रहते हैं। इसी तरह सुरक्षित जगह की तलाश में तलोजा एमआईडीसी की एक कंपनी में भी एक मादा अजगर १० अंडों के साथ में पाई गई। इसकी जानकारी कंपनी द्वारा सर्पमित्र एवं वन विभाग को दिए जाने के तुरंत बाद विभागीय अधिकारी और सेव वाइल्ड लाइफ ग्रुप के सदस्यों ने आकर अजगर और उसके बच्चों को यहां से रेस्क्यू कर लिया। इन सभी ने अजगर के अंडों को सुरक्षित स्थान पर रखवा दिया और जब अंडों से बच्चे निकल आए तो उन्हें भी जंगल में छोड़ दिया। इस प्रकार १० अंडे में से ६ बच्चे सुरक्षित निकल पाए।

पनवेल के वाइल्ड लाइफ ग्रुप से जुड़े हुए तेजस उल्वेकर ने बताया कि इस पूरे घटनाक्रम में स्थानीय वन विभाग भी शामिल था, जिनके आदेश पर ही वाइल्ड लाइफ ग्रुप इस रेस्क्यू ऑपरेशन को अंजाम दे रहा था। शुरुआत में इस मादा अजगर के साथ कुल १४ अंडे थे, जिनमें से चार पहले से ही फूट चुके थे और इनके अंदर जो बच्चे थे वह जीवित नहीं थे।

वन विभाग के अफसरों ने बताया कि कंपनी में मिले १० अंडों को सुरक्षित रखना अपने आप में एक बड़ी चुनौती थी लेकिन तेजस ने बड़ी ही सावधानी के साथ इस काम को अंजाम दिया और अजगर समेत उसके ६ बच्चों को जीवनदान दिया।