एमपी में आंखफोड़वा कांड, इलाज के लिए पीड़ितों को भेजा गया चेन्नई

एमपी के इंदौर शहर में आंखफोड़वा कांड के ३ मरीजों को कल शाम चेन्नई भेज दिया गया। तीनों ही मरीजों को एक विशेष विमान से चेन्नई भेजा गया। उनके साथ १-१ परिजन को भी देखरेख के लिए जाने की इजाजत दी गई। इससे पहले चेन्नई से आई विशेषज्ञों की टीम का नेतृत्व कर रहे डॉ. राजीव रमण ने ४ मरीजों का ऑपरेशन किया था, जिसके बाद उनकी हालत में सुधार हो रहा है। उधर कार्रवाई करते हुए स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने राष्ट्रीय अंधत्व निवारण समिति के जिला प्रभारी डॉ. टीएस होरा को सस्पेंड कर दिया है।
बता दें कि इंदौर के आई हॉस्पिटल में मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद ११ मरीजों की आंखों की रोशनी चली गई थी। जिसके बाद उन्हें चोइथराम अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस घटना के बाद सरकार ने पीड़ितों को आर्थिक मदद देने के साथ ही उनके इलाज का खर्च उठाने का एलान किया था। साथ ही चेन्नई से विशेषज्ञों का एक दल भी डॉ. राजीव रमण के नेतृत्व में इंदौर आया और पीड़ितों का इलाज कर रहा है, जिससे ४ मरीजों को आराम मिला है।