एयर का किराया हाई, ट्रेन में जगह नहीं है भाई

होली के दौरान मुंबई से मुलुक का सफर तो जैसे-तैसे लोगों ने तय कर लिया लेकिन अब बात मुलुक से मुंबई के सफर में अटक गई है। दरअसल अब मुलुक से मुंबई वापसी का रेल सफर नर्क हो गया है। वापसी के लिए एयर किराया इतना हाई है कि लोग आसमान की तरफ ताक तक नहीं रहे हैं, वहीं ट्रेन में जनरल हो या स्लीपर कोच यात्रियों के पैर रखने तक की जगह इन दिनों उसमें नहीं है। यात्री जैसे-तैसे कोच में घुस भी जा रहे हैं लेकिन पहले से कोच में बैठे यात्री ‘ट्रेन में जगह नहीं है भाई’ यह कह कर कोच में चढ़ने तक नहीं दे रहे हैं।
बात दें कि इन दिनों मुलुक से मुंबई का सफर दूभर हो गया है। प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर, लखनऊ से चलनेवाली सारी ट्रेनें फुल हैं। सभी ट्रेनों में लंबी वेटिंग दिख रही है। होली के मौके पर जैसे-तैसे लोगों ने मुंबई से मुलुक का सफर तय कर लिया था लेकिन वापसीवाला सफर तो यात्रियों के लिए जी का जंजाल बन गया है। अनवर शेख का कहना है कि वाराणसी से मुंबई पहुंचना है लेकिन टिकट का कहीं अता-पता नहीं है। सभी ट्रेनों में लंबी वेटिंग दिख रही है। तत्काल कोटा का विंडो खुलते ही झटके में टिकटें उड़ जा रही हैं। वहीं मध्य रेलवे के एक बुकिंग क्लर्क ने बताया कि लगभग एक सप्ताह तक ट्रेनों का यही हाल रहेगा। रेलवे ने कुछ विशेष ट्रेनें भी चलाई हैं लेकिन वे भी फुल हो गई हैं। प्रीमियम तत्काल में भी टिकट मिलना मुश्किल है। बुकिंग क्लर्क का कहना है कि ऐसी स्थिति पूरे मार्च महीने में रहेगी। अप्रैल में यात्रियों का भार ट्रेन पर से हलका होगा। कल एयर इंडिया का डायरेक्ट जर्नी का किराया ११,०६४ रुपए और इंडिगो का किराया १९,६८० रुपए था, वहीं ट्रेन की वेटिंग लिस्ट १५० के पार थी।