एसटीपी गैस कांड,  दो गिरफ्तार, लेबर कॉन्टै्रक्टर फरार

मीरा रोड एसटीपी गैस कांड में अधिकारी को बचाने के लिए ठेकेदार के गले में फंदा डाल दिया गया है। प्रेमनगर म्हाडा परिसर स्थित मीरा-भाइंदर मनपा के सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में वॉल्व खोलते समय हुई जहरीली गैस रिसाव की चपेट में आकर तीन मजदूरों की दर्दनाक मौत के मामले में दो लोगों को काशीमीरा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है जबकि मजदूर आपूर्ति करनेवाला ठेकेदार फरार हो गया है। गिरफ्तार लोगों की पहचान प्रिंस संतोष सिंह और नरेंद्र अंतड़ के रूप में हुई है, जिसमें सिंह प्रेमनगर के एसटीपी केंद्र का सुपरवाइजर तो अंतड़ मीरा-भाइंदर मनपा के सभी एसटीपी केंद्रों का सुपरवाइजर है, वहीं मजदूर की आपूर्ति करनेवाला अंदवारा बीबी पाथर फरार हो गया है।
शिवसेना के स्थानीय प्रवक्ता शैलेश पांडे ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और मनपा आयुक्त को पत्र लिखकर एसटीपी प्रोजेक्ट के इंचार्ज जल विभाग के कार्यकारी अभियंता सुरेश वाकोडे पर भी सदोष मनुष्य वध का दोषी मानते हुए कार्रवाई और निलंबित करने की मांग की है। प्रेमनगर के निवासियों का भी आरोप है कि इस पूरे प्रोजेक्ट के प्रभारी मनपा के जल विभाग के कार्यकारी अभियंता वाकोडे को मनपा बचा रही है। काशीमीरा पुलिस के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक वैभव ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों के खिलाफ भादवि की धारा ३०४ (अ) के तहत मामला दर्ज किया गया है।