" /> कंट्रोल में कोरोना!, चेस द वायरस, मिशन जीरो मुहिम सफल

कंट्रोल में कोरोना!, चेस द वायरस, मिशन जीरो मुहिम सफल

कोरोना को नियंत्रित करने के लिए मनपा द्वारा शुरू की गई चेस द वायरस और मिशन जीरो मुहिम सफल हो रही है। मुंबई में कोरोना कमजोर पड़ गया है। शहर और उपनगरों के अधिकांश इलाकों में कोरोना की चेन तोड़ने में मनपा सफल रही है। इसी का नतीजा है कि यहां कोरोना मरीजों की वृध्दि दर ०.८२ प्रतिशत रह गई है।
२० वार्डों में वृध्दि दर एक प्रतिशत से कम
मनपा के २४ वार्डों में से २० वार्डों में कोरोना की वृद्धि दर १ प्रतिशत से कम रह गई है। सिर्फ चार वॉर्डों में ग्रांट रोड (मलबार हिल, रेसकोर्स, महालक्ष्मी), कालबादेवी, मरीन लाइंस, बोरिवली एवं बांद्रा पूर्व में कोरोना की वृध्दि दर १ प्रतिशत से अधिक है।
ऐसे आई गिरावट
कोरोना वायरस की चेन तोड़ने के लिए मनपा प्रयासरत है। डोर टू डोर स्क्रीनिंग, फीवर क्लिनिक, कांटेक्ट ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, जांच, प्रभावी क्वॉरंटीन के चलते कोरोना को नियंत्रित करने में मनपा सफल रही हैं। इसका सकारात्मक परिणाम भी सामने आ रहा है। बीएमसी के २४ में से २० वॉर्डों में कोरोना की ग्रोथ रेट १ प्रतिशत से कम है। इसमें सबसे कम वृध्दि दर ०.५८ प्रतिशत गोवंडी एवं मानखुर्द वॉर्ड की है। इसके बाद कुर्ला, साकीनाका वॉर्ड की वृध्दि दर ०.५९ प्रतिशत है। चेंबूर एम- पश्चिम वार्ड का वृध्दि दर ०.९९ प्रतिशत, मालाड का ०.९८, गोरेगांव का ०.९७, कांदिवली का ०.९१ , कोलाबा का ०.८६, भायखला का ०.८५, बांद्रा पूर्व का ०.८०, मुलुंड का ०.७७, माटुंगा, वडाला एवं सायन का ०.७७, वर्ली, प्रभादेवी का ०.७४, धारावी, दादर एवं माहिम का ०.७३ और मालाड का ०.७० प्रतिशत है।
हॉटस्पॉट में भी मरीज हुए कम
कोरोना के हॉटस्पॉट इलाकों में भी अब प्रतिदिन गिनती के मरीज सामने आ रहे हैं। के/पश्चिम वॉर्ड के अंतर्गत अंधेरी पश्चिम, वर्सोवा जैसे इलाके आते हैं, यहां कोरोना की वृध्दि दर घटकर ०.६९ प्रतिशत पर आ गई है। इसी तरह घाटकोपर में यह दर ०.६८ प्रतिशत, अंधेरी पूर्व में, जहां कोरोना के सबसे ज्यादा मरीज हैं, वहां वृध्दि दर गिर कर सिर्फ ०.६२ प्रतिशत एवं भांडुप परिसर में ०.६० प्रतिशत रह गई है।