" /> कम मातृ मृत्यु दरवाले राज्यों की सूची में महाराष्ट्र काे दूसरे स्थान

कम मातृ मृत्यु दरवाले राज्यों की सूची में महाराष्ट्र काे दूसरे स्थान

नमूना पंजीकरण सर्वेक्षण रिपोर्ट प्रकाशित
महाराष्ट्र ने संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को पूरा किया

राज्य में कोरोना का प्रकोप जारी है। इसी बीच राज्य के लिए अच्छी खबर यह है कि कल जारी सैंपल रजिस्ट्रेशन सर्वे (एसआरएस) रिपोर्ट बताती है कि महाराष्ट्र सबसे कम मातृ मृत्यु दरवाले राज्यों की सूची में दूसरे स्थान पर बना हुआ है। महाराष्ट्र में मातृ मृत्यु दर को रोकने के लिए राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा निरंतर किए गए प्रयासों से यह उपलब्धि हासिल हुई है।
सेंट्रल रजिस्टर्ड महानिरीक्षक कार्यालय द्वारा किए गए, 2016-18 की सैंपल रजिस्टर्ड सूची में पहले स्थान पर 43 की दर के साथ आयोजित नमूना पंजीकरण केरल सबसे ऊपर है। महाराष्ट्र में मातृ मृत्यु दर 46 है। इस बार पहले और दूसरे स्थान पर रहनेवाले राज्यों की मातृ मृत्यु दर के बीच अंतर कम हो गया है। पिछले तीन वर्षों में महाराष्ट्र में मातृ मृत्यु दर 68 से घटकर 61, फिर 55 और अब 46 पंजीकरण किया गया है। इस सूची में केरल (43), महाराष्ट्र (46), तमिलनाडु (60), तेलंगाना (63) और आंध्र प्रदेश (74) शीर्ष पांच में समावेश है। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा किए गए उपाय योजना के कारण माता मृत्यु दर में कमी आई है।