" /> कल्याण-डोंबिवलीकरों के लिए कोविद -19 परीक्षण के लिए स्वतंत्र होगी प्रयोगशाला

कल्याण-डोंबिवलीकरों के लिए कोविद -19 परीक्षण के लिए स्वतंत्र होगी प्रयोगशाला

पालक मंत्री एकनाथ शिंदे और जिला कलेक्टर राजेश नार्वेकर ने सांसद श्रीकांत शिंदे की मांग पर लगाई मुहर
राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन ने कोविद -19 के प्रसार को रोकने के लिए सभी प्रकार की कोशिश कर रहे हैं। अधिक से अधिक कोरोना जांच करने का प्रयत्न किया जा रहा है लेकिन इस प्रयास के तहत, कल्याण-डोंबिवली महानगरपालिका क्षेत्र के लिए एक अलग परीक्षण प्रयोगशाला होनी चाहिए। यह मांग शिवसेना सांसद डॉ. श्रीकांत शिंदे पिछले कई दिनों से कर रहे थे। आखिरकार वे कल्याण डोंबिवली मनपा के लिए अलग प्रयोशाला की मांग मनवाने में कामयाब हो गए। यानी अब कल्याण डोंबिवली के लिए स्वंतत्र लैब होगा।
ठाणे जिला के पालक मंत्री एकनाथ शिंदे और जिला कलेक्टर राजेश नार्वेकर ने कल्याण-डोंबिवली मनपा के लिए एक अलग कोरोना परीक्षण प्रयोगशाला स्थापित करने के लिए निधि को मंजूरी दे दी है। वर्तमान में कोरोना परीक्षण प्रयोगशालाओं की संख्या सीमित है और उपलब्ध प्रयोगशालाओं पर बहुत तनाव है। कल्याण-डोंबिवली में रोगियों की बड़ी संख्या है और स्थानीय स्तर पर एक प्रयोगशाला होना आवश्यक है। वर्तमान में कोरोना संदिग्धों की जांच के लिए मुंबई के केईएम अस्पताल और जेजे अस्पताल भेजा जाता है और उनकी रिपोर्ट आने में समय लग रहा है। इसलिए कल्याण-डोंबिवली मनपा क्षेत्र में कोरोना परीक्षण के लिए स्वतंत्र प्रयोगशाला होनी ही चाहिए। इसके लिए डॉ. शिंदे लंबे समय से कोशिश कर रहे थे। उन्होंने पालक मंत्री एकनाथ शिंदे और जिला कलेक्टर राजेश नार्वेकर से जिला योजना के तहत प्रयोगशाला लिए धन उपलब्ध कराने की मांग की थी। डॉ. शिंदे की इस मांग को जिला कलेक्टर से मंजूरी मिल गई है। अब कल्याण-डोंबिवली के लिए स्वतंत्र लैब होगी। ऐसी जानकारी शिवसेना सांसद डॉ. श्रीकांत शिंदे ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में दी है।