कांग्रेस में राणे को ‘नो एंट्री’!

दल-बदलू के नाम से मशहूर पूर्व मंत्री नारायण राणे ने कांग्रेस को छोड़ने के बाद स्वाभिमान पक्ष की स्थापना की। भाजपा के टिकट पर राज्य सभा में चुनकर गए हैं। इन दिनों नारायण राणे पुन: कांग्रेस में आ रहे हैं। इस बात को लेकर मीडिया व राजनीतिक गलियारे में जोरों से चर्चा चल रही है। इस चर्चा पर पूर्ण विराम लगाते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने राणे की कांग्रेस में नो एंट्री की बात स्पष्ट की है। बालासाहेब थोरात ने भी नारायण राणे के प्रवेश के संबंध में किसी भी प्रकार का वक्तव्य नहीं दिया है।
लोकसभा-विधानसभा चुनाव साथ में हुआ तब भी कांग्रेस तैयार
आगामी लोकसभा व विधानसभा चुनाव साथ हुआ तो भी कांग्रेस दोनों चुनाव एक साथ लड़ने को तैयार है। उक्त दोनों चुनाव में भाजपा की पराजय निश्चित है, ऐसा दावा भी प्रदेश अध्यक्ष चव्हाण ने किया है।
करोड़ों रुपए की घोषणाबाजी भाजपा का चुनावी जुमला
राज्य की आर्थिक हालत खस्ता है। सरकार ने कर्ज में राज्य को डुबाने का काम किया है। इसके बाद भी करोड़ों रुपए की विकास योजनाओं की घोषणा करना यह फडणवीस की चुनावी जुमलेबाजी है, ऐसा कटाक्ष अशोक चव्हाण ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर किया।