" /> काम नहीं तो गांव चलें! ‘जनता कर्फ्यू’ से बढ़ी स्टेशनों पर भीड़

काम नहीं तो गांव चलें! ‘जनता कर्फ्यू’ से बढ़ी स्टेशनों पर भीड़

‘संडे’ टाइम टेबल पर चलेगी लोकल
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार कई बड़े और उचित कदम उठा रही है। कोरोना वायरस के चलते मुंबई और पुणे को लॉकडाउन कर दिया गया। धंधा बंद होने के कारण हजारों लोगों के पास इन दिनों काम नहीं है, ऐसे में कुछ दिन आराम करने के लिए लोग अपने गांव जा रहे हैं। यात्रियों की बढ़ती भीड़ को दखते हुए रेलवे ने अतिरिक्त अनारक्षित ट्रेनें भी चला रही है। कल लोकमान्य तिलक टर्मिनस स्टेशन (एलटीटी), कल्याण स्टेशन पर रोजाना के मुकाबले ज्यादा भीड़ नजर आई। एलटीटी स्टेशन पर भीड़ ने रेलवे स्टेशन पर एंट्री रोकने के लिए बने गेट को तोड़ डाला। ट्रेनों में घुसने के लिए लोग धक्कामुक्की और खींचतान करते नजर आए। स्टेशन पर भीड़ को काबू करने में सुरक्षाकर्मियों के हाथ-पांव फूल गए।
‘जनता कर्फ्यू’ १२ ट्रेनें  कैंसिल
६० फीसदी चलेंगी लोकल सेवाएं
कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए मध्य रेलवे रविवार को रोजाना चलाई जानेवाली कुल उपनगरीय लोकल सेवाओं का ६० फीसदी लोकल सेवाएं संचालित करने का पैâसला किया है। मध्य रेलवे ने रविवार को मेन लाइन और हार्बर लाइन मार्ग पर मेगा ब्लॉक भी लिया था लेकिन कोरोना वायरस के कारण एहतियात के तौर पर दोनों मार्गों का ब्लॉक रद्द कर दिया है।
डहाणू लोकल भी रद्द
पश्चिम रेलवे ने २२ मार्च, २०२० को ७.०० बजे से २१.०० बजे तक पूरे देश में रहनेवाले जनता कर्फ्यू के कारण १२ और ट्रेनों के फेरे रद्द करने का निर्णय लिया है। इसी प्रकार २२ मार्च, २०२० को पश्चिम रेलवे की कुछ उपनगरीय सेवाएं भी रद्द रहेंगी।
उपनगरीय ट्रेनें रद्द रहेंगी
१. विरार से डहाणू रोड के लिए ११.५५ बजे छूटनेवाली ट्रेन सं. विरार ९३०१९
२. विरार से डहाणू रोड के लिए १५.४५ बजे छूटनेवाली ट्रेन सं. विरार ९३०२७
३. डहाणू रोड से दादर के लिए १५.३३ बजे छूटनेवाली ट्रेन सं. विरार ९३०२२
४. डहाणू रोड से चर्चगेट के लिए १९.०० बजे छूटनेवाली ट्रेन सं. विरार ९३०३०
मोनो-मेट्रो सेवाएं भी ठप!
मुंबई समेत देश में कोरोना के बढ़ते प्रभाव पर लगाम लगाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को ‘जनता कर्फ्यू’ लागू करने का निर्णय लिया है। आम जनता से घरों के बाहर नहीं निकलने की अपील की है। मुंबई महानगर प्रदेश विकास प्राधिकरण (एमएमआरडीए) और मेट्रो १ प्रशासन ने प्रधानमंत्री की मुहिम में शामिल होने का निर्णय लिया है। रविवार को मेट्रो और मोनो की सभी सेवा को रद्द करने का पैâसला लिया है। एमएमआरडीए के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर डॉ.डीएलएन मूर्ति के अनुसार कोरोना के लगातार बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए २२ मार्च को मोनो सेवा बंद रखने का पैâसला लिया गया है। इस दौरान स्टेशनों पर केवल सुरक्षाकर्मी और इमरजेंसी स्टाफ ही मौजूद रहेंगे। स्टेशन परिसर के द्वार, लिफ्ट और एक्सलेटर बंद रहेंगे। २३ फरवरी को सुबह ५.३० से सेवा दोबारा शुरू कर दी जाएगी। चेंबूर से जेकब सर्कल के बीच सफर करने के लिए रोजाना करीब ८ से १० हजार यात्री मोनो सेवा का इस्तेमाल करते हैं।
मेट्रो-१ प्रशासन ने भी घाटकोपर से वर्सोवा के बीच चलनेवाली मेट्रो सेवा को २२ मार्च को बंद रखने का पैâसला लिया है। गौरतलब है कि मुंबई में लगातार कोरोना वायरस से ग्रसित मरीजों की संख्या में रोजाना इजाफा हो रहा है।
संक्रमण के प्रभाव से मुंबईकरों को सुरक्षित रखने के लिए राज्य सरकार पहले ही लोगों से घरों से बाहर न निकलने की अपील कर चुकी है।
मेट्रो सेवा रद्द
कोरोना वायरस के साथ जंग लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से ‘जनता कर्फ्यू’ की अपील की है। इस अपील को देखते हुई मुंबई मेट्रो-१ ने रविवार को मेट्रो सेवाओं को रद्द कर दिया है। ताकि लोग घर पर रह कर ‘जनता कर्फ्यू’ ३ को बढ़ावा देकर कोरोना से लड़ने में देश और अपने आसपास लोगों का सहयोग कर सके।
प्रत्येक रविवार को पश्चिम रेलवे मुंबई के उपनगरीय रेल मार्ग पर १,२७८ लोकल सेवाओं का परिचालन होता है। परंतु २२ मार्च को `जनता कर्फ्यू’ के कारण २४४ डाउन और २३३ अप लोकल सेवाएं ऐसे कुल मिलाकर ४७७ लोकल सेवाएं रद्द रहेंगी। जबकि ८०१ लोकल सेवाएं संचालित होंगी।
फूड प्लाजा रहेंगे बंद
आईआरसीटीसी का निर्णय
कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के एहतियाती उपायों के अंतर्गत इंडियन रेलवे वैâटरिंग एवं टूरिज्म कॉर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) की २२ मार्च, २०२० से खान-पान की व्यवस्था बंद रहेगी।
१. रेल परिसरों में मौजूद सभी फूड प्लाजा, रिप्रâेशमेंट रूम, जन आहार और सेल किचन बंद रहेंगे।
२. विभिन्न ट्रेनों में पूर्व भुगतान के आधार पर भोजन की आपूर्ति करनेवाली खान-पान इकाइयां कार्यरत रहेंगी।
३. विभिन्न मेल / एक्सप्रेस ट्रेनों में ऑन बोर्ड खान-पान सेवाएं तथा ट्रेन साइड वेंडिंग (टीएसवी) अगले आदेश तक स्थगित रहेंगी।
४. यदि किसी ट्रेन में ऑन बोर्ड खान-पान सेवाओं की खासतौर पर मांग की जाती है तो न्यूनतम स्टाफ के साथ चाय और कॉफी जैसे आवश्यक पदार्थों की बिक्री करने की अनुमति दी जा सकती है।
५. खानपान सेवाओं के लाइसेंसी द्वारा सेवाओं की स्थगन अवधि के दौरान मानवता के आधार पर अपने कर्मचारियों का समुचित ध्यान रखा जाएगा।
उत्तर भारत के लिए अतिरिक्त ट्रेनें
मध्य रेल ने अतिरिक्त भीड़ को कम करने के लिए पटना, हावड़ा, दानापुर, गोरखपुर, मंड़ुआडीह और बल्लारशाह के लिए विशेष ट्रेनें चलाई हैं। शनिवार को भी अतिरिक्त ट्रेनें चलाई गर्इं। लोगों का कहना है कि धंधा बंद हो जाने के कारण अब उनके सामने रोजी-रोटी का संकट हो गया है। काम न होने के कारण लोगों का मन नहीं लग रहा है। बबलू शेख बताते हैं कि काम बंद होने के कारण वो अपने गांव गोंडा जा रहे हैं। स्थिति सामान्य हो जाने पर दोबारा रोजी-रोजगार के लिए मुंबई लौट आएंगे।
२,४०० ट्रेनें रहेंगी रद्द
रेलवे ने २२ मार्च को होनेवाले ‘जनता कर्फ्यू’ के चलते २१-२२ की मध्य रात्रि यानी रात १२ बजे से २२ मार्च को रात १० बजे तक रवाना होनेवाली सभी ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। इस दौरान मुंबई सहित देशभर में करीब २४०० ट्रेनें रद्द रहेंगी। इसके अलावा, रविवार को मुंबई से पुणे और सूरत जानेवाली इंटरसिटी ट्रेन को सुबह ४ बजे से रात १० बजे तक रद्द किया गया है।