`कार्यकर्ताओं पर नहीं है विश्वास घर का उम्मीदवार दे रहे हैं पवार’

राकांपा अध्यक्ष शरद पवार को अपने कार्यकर्ताओं पर विश्वास नहीं रह गया है इसलिए वे घर के सदस्यों को उम्मीदवारी दे रहे हैं। माढ़ा लोकसभा चुनाव क्षेत्र से पवार स्वयं चुनाव लड़ें या किसी अन्य को उम्मीदवार बनाएं, इस सीट को युति का ही उम्मीदवार जीतेगा। माढ़ा सीट पर विरोधी दल का उम्मीदवार कौन होगा? इस आधार पर युति का उम्मीदवार तय किया जाएगा। यह बात भाजपा नेता व राजस्व मंत्री चंद्रकांत दादा पाटील ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। बारामती, मावल और माढ़ा लोकसभा सीट से पवार खानदान से चुनाव लड़ने की बात आगे आने को आधार बनाकर चंद्रकांत पाटील ने उक्त बातें कहीं। प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र में राकांपा कार्यकर्ता हैं, कई लोग इच्छुक हैं लेकिन पवार को कार्यकर्ताओं पर विश्वास नहीं रह गया है इसलिए घर के लोगों को उम्मीदवारी दे रहे हैं, ऐसा पाटील ने कहा। पवार की उम्र व स्वास्थ्य को देखते हुए उन्हें चुनाव न लड़ने की सलाह दी थी। यह बात उन्हें पसंद नहीं आई। पवार ने कहा कि सलाह देने की आवश्यकता नहीं है। माढ़ा लोकसभा से भाजपा का उम्मीदवार कौन होगा? इस सवाल पर पाटील ने कहा कि राजनीति में गणित तत्काल हल नहीं किया जाता है।