किन्नरों की भी आने लगी बारात!, फिल्म ‘हंसा’ के निर्माता की अनोखी पहल

किन्नरों की शादी। उनकी भी बारात। आपको यह सब शायद मजाक की बातें लगे, पर यह सच है। किन्नर भी एक आम इंसान होते हैं जिन्हें शारीरिक से ज्यादा समाज में मानसिक प्रताड़ना झेलनी पड़ती है। हर कोई उनका आशीर्वाद तो लेना चाहता है पर डरता भी है और उनसे दूर रहना चाहता है। किन्नरों से जुड़ी बहुत सारी भ्रांतियों को तोड़ने का काम कर रहे हैं सुरेश शर्मा जो फिल्म ‘हंसा एक संयोग’ के निर्माता हैं।
यह फिल्म एक किन्नर हंसा के संघर्ष की कहानी है। सुरेश ने हाल ही में १५ किन्नरों की एक साथ शादियां करवाई जो दुनिया में अपनी तरह की पहली पहल है। इसके लिए सुरेश का नाम गिनीज बुक में भी दर्ज होनेवाला है। सुरेश बताते हैं कि उन्होंने काफी रिसर्च के बाद ‘हंसा’ बनाई है। इस दौरान उन्होंने देस भर का दौरा किया और हजारों किन्नरों से मिलकर उनका दुःख-दर्द समझा। उन्हें यह जानकर आश्चर्य हुआ कि आधे से ज्याद किन्नर ऐसे हैं जिनके शरीर की बनावट आम इंसानों जैसी ही है। थोड़ा हार्मोनल प्रॉब्लम रहती है जिसे आसानी से इलाज व सर्जरी द्वारा ठीक किया जा सकता है। इसके बाद वे भी दांपत्य सुख का जीवन जी सकती हैं। हां, वे मां नहीं बन सकती क्योंकि उनमें गर्भाशय नहीं होता और उसका इलाज अभी यहां उपलब्ध नहीं है। किसी गैर सुविधा प्राप्त बच्चे को गोद लेकर वे इस कमी को पूरा कर सकती हैं। इसके बाद सुरेश ने किन्नरों का घर बसाने का बीड़ा उठाया और प्रयोगात्मक तौर पर १५ किन्नरों की शादी कराई। यह इतना आसान भी नहीं था। उन्हें लोगों को समझने और १५ दूल्हे ढूंढने में काफी मुश्किल हुई पर आखिर उन्होंने असंभव को संभव कर ही दिया। सुरेश अपनी मुहिम जारी रखेंगे और किन्नरों की शादी करवाने का सिलसिला चलता रहेगा। सुरेश की फिल्म हंसा आगामी शुक्रवार को रिलीज होनेवाली है। इस फिल्म में किन्नर हंसा की चुनौतीपूर्ण लीड भूमिका निभाई है आयुष श्रीवास्तव ने। इसके अलावा सयाजी शिंदे, वैश्नवी मैकडोनाल्ड, दीपशिखा नागपाल, शरत सक्सेना, अमन वर्मा, मोनालिसा, बच्चन पचेरा और अखिलेंद्र मिश्रा की महत्वपूर्ण भूमिका है। फिल्म का निर्देशन संतोष कश्यप और धीरज वर्मा ने किया है।