कुत्ते की मौत मरेगा मसूद

हिंदुस्थान में कई आतंकी साजिशों का मास्‍टरमाइंड, जैश-ए-मोहम्‍मद का सरगना मौलाना मसूद अजहर को गंभीर बीमारी ने जकड़ रखा है और वह कुत्ते की मौत मरनेवाला है। हिंदुस्थान का यह मोस्‍ट वॉन्‍टेड आतंकी इन दिनों बिस्‍तर पर है। खुफिया ब्‍यूरो के सूत्रों के अनुसार पिछले डेढ़ साल से वह अस्पताल में भर्ती है, उसकी रीढ़ की हड्डी और किडनी खराब हो चुकी है।
अजहर की बीमारी की वजह से संगठन की जिम्‍मेदारी उसके छोटे भाइयों रऊफ असगर और अतहर इब्राहिम पर आ गई है। अब संगठन के आतंकी इन दोनों भाइयों के इशारों पर अफगानिस्‍तान और हिंदुस्थान में हमलों को अंजाम दे रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि ५० वर्षीय मसूद अजहर ज्यादा दिन नहीं जीनेवाला है। अधिकारियों के मुताबिक अजहर का इलाज इस समय रावलपिंडी के मुरी स्थित मिलिट्री हॉस्पिटल में चल रहा है। अजहर को न तो बहावलपुर स्थित उसके घर के आसपास देखा गया और न ही पाकिस्‍तान में कहीं और वह नजर आया है। बता दें कि साल २०१६ में पहले पठानकोट में एयरफोर्स बेस पर आतंकी हमले और फिर उरी में आर्मी बेस पर हुए हमले के बाद से ही मसूद अजहर को ग्‍लोबल टेररिस्‍ट घोषित करने के लिए यूनाइटेड नेशंस (यूएन) में प्रस्‍ताव पेश किया गया था, लेकिन हर बार चीन ने हिंदुस्थान के इस प्रस्‍ताव में अड़ंगा डाल दिया।