कूटे गए कंगारू

बर्मिंघम में गुरुवार को खेले गए वर्ल्ड कप के दूसरे सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को ८ विकेट से हरा दिया। इस जीत के साथ ही इंग्लैंड की टीम २७ साल बाद फाइनल में पहुंच गई। वह पिछली बार १९९२ में खिताबी मुकाबले में पाकिस्तान के खिलाफ हार गई थी। इंग्लिश टीम चौथी बार वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची है। इससे पहले तीनों बार उसे हार का सामना करना पड़ा है। १४ जुलाई को लॉर्ड्स के मैदान पर उसका मुकाबला न्यूजीलैंड से होगा। न्यूजीलैंड की टीम लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंची। पिछली बार वह खिताबी मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया से हार गई थी। वह भी अब तक एक भी खिताब नहीं जीत सकी है। इससे यह तय हो गया कि वर्ल्ड कप इस बार नया चैंपियन मिलेगा। ५ बार की चैंपियन टीम ऑस्ट्रेलिया पहली बार सेमीफाइनल में हारा। इससे पहले वह सातों बार जीता था। अब तक के १२ वर्ल्ड कप में यह ५वां मौका होगा, जब कंगारू टीम खिताबी मुकाबला नहीं खेलेगी। एजबेस्टन ग्राउंड पर ऑस्ट्रेलिया की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए ४९ ओवर में २२३ रन पर ऑलआउट हो गई। उसके लिए स्टीव स्मिथ ने ८५ रन की पारी खेली। इंग्लैंड के लिए क्रिस वोक्स और आदिल रशीद ने ३-३ विकेट लिए। जवाब में इंग्लैंड ने ३२.१ ओवर में २ विकेट पर २२६ रन बना लिए। उसके लिए जेसन रॉय ने ८५ रन बनाए। वोक्स को मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड दिया गया। पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम ने ४९ ओवर में २२३ रन पर सिमट गई। ऑस्ट्रेलिया के लिए स्टीव स्मिथ ने ८५ रन की पारी खेली। इंग्लैंड के लिए क्रिस वोक्स और आदिल रशीद ने ३-३ विकेट लिए। ऑस्ट्रेलियाई टीम वर्ल्ड कप इतिहास में २० साल बाद सेमीफाइनल में ऑलआउट हुई। पिछली बार १९९९ में दक्षिण अप्रâीका के खिलाफ पूरी टीम पवेलियन लौट गई थी। स्मिथ ने अपना ३१वां और इंग्लैंड के खिलाफ चौथा अर्धशतक लगाया। उन्होंने एलेक्स केरी के साथ चौथे विकेट के लिए १०३ रन की साझेदारी की। केरी ४६ रन बनाए। मिशेल स्टार्क ने २९ रन बनाए। उन्होंने स्मिथ के साथ आठवें विकेट के लिए ५१ रन की साझेदारी की। केरी आठवें ओवर की आखिरी गेंद पर चोटिल हो गए थे।