केस दर्ज करने के बाद, एक्शन में सीबीआई!

यूपी में उन्नाव रेप पीड़िता के दुर्घटना मामले में केस दर्ज करने के बाद सीबीआई एक्शन में आ गई। सीबीआई की तीन सदस्यों की टीम कल रायबरेली में उस जगह पर जांच करने पहुंची, जहां रेप पीड़िता और उसके परिवार की कार को हत्यारे ट्रक ने टक्कर मार दिया था। बता दें कि राज्य सरकार की सिफारिश के बाद सीबीआई ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसके भाई सहित १० लोगों के खिलाफ नामजद और १५-२० अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास, आपराधिक साजिश की धाराओं में केस दर्ज किया है। यह केस सीबीआई लखनऊ की एंटी करप्शन ब्रांच ने दर्ज किया है। अब सीबीआई ही इस मामले की सच्चाई पता लगाएगी कि यह एक हादसा या साजिश थी।
बता दें कि २८ जुलाई को एक कार दुर्घटना में उन्नाव गैंगरेप पीड़िता और एक वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे जबकि पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी। पीड़िता के परिवार ने इस घटना को साजिश बताते हुए आरोप लगाया था कि विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने अपने समर्थकों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया ताकि पीड़िता और उसके साथ केस की पैरवी कर रहे लोगों को खत्म कर दिया जाए। परिवार ने इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की थी। बता दें कि पीड़िता के साथ रेप और उसके पिता की जेल में हत्या मामले की जांच पहले से ही सीबीआई के पास है। बुधवार को पीड़िता के दुर्घटना मामले में सीबीआई ने अलग से एफआईआर दर्ज की है। मंगलवार देर रात दर्ज हुई इस एफआईआर में कुलदीप सिंह सेंगर, मनोज सिंह सेंगर, विनोद मिश्रा, हरिपाल सिंह, नवीन सिंह, कोमल सिंह, अरुण सिंह, ज्ञानेंद्र सिंह, रिंकू सिंह, वकील अवधेश सिंह का नाम शामिल है। सीबीआई उक्त मामले की जांच कर रही है।
 सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई
नई दिल्ली। उन्नाव रेप कांड में पीड़ित परिवार की तरफ से लिखी गई चिट्ठी न मिलने पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने नाराजगी जताई है। गोगोई ने रजिस्ट्रार से पूछा है कि १२ जुलाई को लिखी गई चिट्ठी उनके सामने अब तक क्यों पेश नहीं की गई? उन्होंने बताया कि उन्हें मीडिया में चल रही खबरों से इस चिट्ठी के बारे में जानकारी मिली है। रजिस्ट्रार को एक हफ्ते के भीतर जवाब देना है। चीफ जस्टिस आज उन्नाव केस की सुनवाई करेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने उन्नाव रेप पीड़िता की मेडिकल रिपोर्ट भी तलब की है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने यूपी प्रशासन से गुरुवार तक उन्नाव रेप पीड़ित के दुर्घटना पर स्टेटस रिपोर्ट भी मांगी है।

 ‘२ महीनों में हो कुलदीप की फांसी’
लखनऊ। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने बुधवार को यूपी की नवनियुक्त राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से लखनऊ के राजभवन में मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने उन्नाव रेप पीड़िता का मामला उठाया। उन्होंने राज्यपाल से मामले में हस्तक्षेप करते हुए भाजपा विधायक मामले को फास्टट्रैक कोर्ट में ले जाकर फांसी की सजा दिलाए जाने की मांग की। मालीवाल ने कहा कि मेरी आनंदीबेन पटेल से मुलाकात हुई है। उनसे योगी से पीड़िता से मिलने के लिए रिक्वेस्ट की है और लड़की को प्रॉपर मुआवजा दिलाने की बात कही है।