कैमरे ने पकड़ा, अब कांस्टेबल ढूंढ़ेंगे

सी लिंक से आम सड़कों तक होगी, ट्रैफिक नियम तोड़नेवालों की तलाश

ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करते हुए वैâमरे में पकड़े गए वाहन चालकों को अब ट्रैफिक पुलिस के कांस्टेबल ढूंढ़ रहे हैं। सी-लिंक से लेकर आम सड़कों तक इनकी तलाश की जा रही है। तलाश किए जा रहे वाहन चालकों पर दंड की रकम बकाया है। करीब १०१ करोड़ रुपए दंड की रकम वाहन चालकों पर बकाया होने का दावा ट्रैफिक पुलिस ने किया है।
बता दें कि सड़क हादसे की रोकथाम के लिए ट्रैफिक नियम उल्लंघन करनेवाले वाहन चालकों पर नकेल कसने हेतु शहरभर में पुलिस ने सीसीटीवी वैâमरे का जाल बिछाया है। इस जाल में जैसे ही वाहन चालक नियमों का उल्लंघन करते हुए फंसते हैं वैसे ही तुरंत उनके मोबाइल फोन पर एसएमएस के जरिए दंड का चालान जारी हो जाता है। चालान जारी होने के बाद भी अधिकांश वाहन चालक दंड भरने में कोताही बरतते हैं। ऐसे में कई वाहन चालकों पर दंड की रकम लाख रुपए तक पहुंच गई है। ट्रैफिक पुलिस के आला अफसर की मानें तो वर्ष २०१८ में ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन के करीब २७ लाख मामले सामने आए थे। करीब १२७ करोड़ रुपए के दंड का चालान वाहन चालकों को जारी किया गया था, जिनमें १०१ करोड़ रुपए के दंड की वसूली अब भी बाकी है। इन वाहन चालकों को पकड़ने के लिए बांद्रा-वरली सी-लिंक, ईस्टर्न प्रâी-वे के अलावा लिंक रोड और व्यस्ततम मार्गों पर ट्रैफिक पुलिस कांस्टेबल तैनात किए गए हैं। इन मार्गों पर जैसे ही बकाएदार वाहन चालकों की गाड़ी नंबर प्लेट ट्रैफिक पुलिस की नजरों में आ जाती है वैसे ही इनसे दंड की राशि वसूल की जाती है।