" /> कोरोना इन कंट्रोल!, संक्रमण की दर एक फीसदी से कम, डबलिंग रेट हुई ७६ दिन

कोरोना इन कंट्रोल!, संक्रमण की दर एक फीसदी से कम, डबलिंग रेट हुई ७६ दिन

मुंबई में अब हालात तेजी से सुधर रहे हैं। मनपा के प्रयासों के चलते अब कोरोना संक्रमण की दर एक फीसदी से भी कम यानी ०.९३ फीसदी हो गई है। वहीं, मरीजों के दोगुना होने का औसत भी ७६ दिन हो गया है। जो मुंबई के लिए बेहद ही दिलासा देनेवाली खबर है।
बता दें कि मुंबई मनपा के २४ प्रशासनिक वार्ड है। इनमें से १८ वार्ड में यानी मुंबई के दो तिहाई हिस्से में कोरोना से संक्रमित होने वालों की संख्या एक फीसदी से भी कम ०.९३ फीसदी हो गई है। इसके साथ ही १४ वार्ड में कोरोना संक्रमित मरीजों के दोगुना होने की संख्या ७९ से १६६ दिन तक है जबकि १० वार्ड में ४२ से ७० दिन के बीच है। बांद्रा- पूर्व के एच-पूर्व वार्ड में मरीजों की डबलिंग रेट १६६ दिन पहुंच गई है। इसी तरह ७६ फीसदी लोग स्वस्थ होकर घर लौट आए है।

कोरोनामुक्त की राह पर धारावी- मालाड
एशिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी धारावी अब धीरे-धीरे कोरोनामुक्त हो रही है। पिछले १० दिनों से यहां बहुत कम संक्रमित सामने आ रहे हैं। इनकी संख्या १० के भीतर है। फिलहाल धारावी के ८३ मरीजों का उपचार किया जा रहा है। इसी तरह पी/ उत्तर वार्ड के मालाड भी कोरोनामुक्त की राह पर है। यहां सील इमारतों की संख्या पंद्रह सौ से कम हुई है और ७
कंटेनमेंट जोन भी प्रतिबंधमुक्त हुए है। ६,४८४ मरीजों में से ५,२०० मरीज स्वस्थ होकर घर लौट आए है।

उत्तर मुंबई में उतर रहा ग्राफ
दक्षिण मुंबई और मध्य मुंबई के बाद कोरोना ने पश्चिमी उपनगर और उत्तर मुंबई के अंधेरी, बोरिवली, दहिसर, कांदिवली और मालाड आदि इलाकों में संक्रमितों की संख्या बढ़ गई थी। यहां अब कोरोना मरीजों का ग्राफ नीचे उतर रहा है। अंधेरी में अब सिर्फ ८०७ मरीजों का उपचार जारी है। दहिसर की झुग्गी बस्तियों में पिछले एक सप्ताह से कोई नए मामले नहीं मिले हैं। सहायक मनपा आयुक्त प्रशांत सकपाले ने बताया कि टेस्टिंग, सर्वे और फीवर कैंप के कारण बड़े पैमाने पर लोग ठीक हो रहे हैं।