" /> कोरोना कम, अफवाह ज्यादा!

कोरोना कम, अफवाह ज्यादा!

कोरोना वायरस से बचने के लिए एक तरफ जहां तरह-तरह के उपाय बताए जा रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ सोशल मीडिया में जो सही सलामत घर में मौजूद हैं या सर्दी-जुकाम से परेशान हैं उन्हें भी कोरोना ग्रस्त ठहराने की अफवाह पैâलाई जा रही है और बाकायदा सूची जारी की जा रही है। अफवाह पैâलानेवालों पर सुरक्षा एजेंसियों की नजर है। उनके ऊपर कानूनी कार्रवाई की जा सकती है इसके बावजूद अफवाहबाजों पर लगाम नहीं लग पा रही है। ठाणे में कोरोना से पीड़ित सिर्फ एक मरीज की जानकारी दी जा रही है। उसका इलाज कस्तूरबा अस्पताल में किया जा रहा है पर सोशल मीडिया में मुंब्रा तथा दिवा में आधे दर्जन से ज्यादा लोगों को कोरोना पीड़ित बताया जा रहा है। जब इस मामले की जांच की गई तो यह कोरोना कम, अफवाह ज्यादा साबित हुआ है।
उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस से पीड़ित ६ मरीजों की जो एक सूची सोशल मीडिया में जबरदस्त तरीके से वायरल हो रही है, उसमें दिवा के-२, मुंब्रा-मुलुंड तथा पुणे के एक-एक लोगों का समावेश है। दिवा तथा मुंब्रा परिसर एक-दूसरे से सटा हुआ है। तीन लोग कोरोना से पीड़ित हैं, इस खबर ने निवासियों में आतंक का माहौल पैदा कर दिया है। ज्यादा से ज्यादा लोग मास्क लगाकर चल रहे हैं तथा जरूरत से ज्यादा सावधानी बरतने लगे हैं। मीडिया से जुड़ी एक टीम सोमवार को सूची की हकीकत का पड़ताल करने का निर्णय लिया और उसमें शामिल मुंब्रा के संतोष नगर स्थित शिरीन अपार्टमेंट निवासी मिर्जा मेहदी के घर पहुंच गई। कथित कोरोना वायरस से पीड़ित मेहदी ने बातचीत में बताया कि २४ जनवरी को वे परिवार के साथ जियारत करने के लिए ईरान गए थे। ४ फरवरी को वापस आ गए। वापस आए करीब ४० दिन से ज्यादा हो गए। एयरपोर्ट से सीधा घर आए। रोज ड्यूटी पर जा रहे हैं। न तो कभी सर्दी-जुकाम या बुखार हुआ और न ही अस्पताल में भर्ती हुआ। ईरान से वापस आने की वजह से मनपा की एक टीम स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए घर पर आ-जा रही है। अफवाह पैâलाने के मकसद से किसी ने सोशल मीडिया में हमें कोरोना वायरस पीड़ित घोषित कर दिया है। इस अफवाह की वजह से हम तथा हमारा पूरा परिवार परेशान है। सूची में हमारी उम्र २७ साल बताई जा रही है जबकि हमारी उम्र २३ साल है। इसी तरह से सूची में शामिल दिवा निवासी पांडेय के घर जाकर पड़ताल की गई पर किसी तरह की जानकारी नहीं मिल पाई है। सोशल मीडिया की सनसनीवाली सूची की पड़ताल चल ही रही थी कि पाता चला कि दिवा के मुंब्रा देवी कॉलोनी निवासी एक और व्यक्ति कोरोना वायरस से पीड़ित होने तथा कलवा स्थित छत्रपति शिवाजी अस्पताल में भर्ती होने की अफवाह पैâल गई। अस्पताल में ८ बेड का आइसोलेशन वॉर्ड बनाया गया है पर अभी तक कोई मरीज भर्ती नहीं हुआ है।