" /> कोरोना के कारण हज यात्रियों प्रभावित : केंद्रीय हज समिति ने दिया रिफंड का प्रस्ताव

कोरोना के कारण हज यात्रियों प्रभावित : केंद्रीय हज समिति ने दिया रिफंड का प्रस्ताव

हज यात्रा पर न जाने के इच्छुक उम्मीदवारों से की सूचित करने की अपील

कोरोना संकट के मद्देनजर इस वर्ष की हज यात्रा की अनिश्चितता के मद्देनजर, जो तीर्थयात्री अपनी तीर्थयात्रा रद्द करना चाहते हैं, उन्हें केंद्रीय हज समिति को ई-मेल द्वारा सूचित करना चाहिए। केंद्रीय हज समिति ने कहा कि हजयात्रियों द्वारा भुगतान की गई पूरी राशि उन्हें बिना किसी कटौती के वापस कर दी जाएगी।

कोरोना के वैश्विक प्रकोप के मद्देनजर 13 मार्च, 2020 को सऊदी प्रशासन ने हज 2020 की तैयारियों के लिए एक अस्थायी ठहराव की घोषणा की लेकिन तब से हज 2020 की तैयारी के लिए बहुत कम समय बचा है। सऊदी प्रशासन से कोई और निर्देश अब तक नहीं मिला है। इस वर्ष यह यात्रा जुलाई-अगस्त में है। इसके लिए तैयारी हर साल पहले से शुरू कर दी जाती है लेकिन इस वर्ष की तैयारी के लिए बहुत कम समय बचा है। सऊदी प्रशासन से कोई और निर्देश नहीं मिला है। हालांकि यात्रा के लिए चुने गए उम्मीदवार लगातार हज समिति से पूछ रहे हैं कि क्या इस साल यात्रा होगी? निर्वाचित उम्मीदवार जो अपनी हज यात्रा को रद्द करना चाहते हैं, उन्हें केंद्रीय हज समिति की वेबसाइट पर उपलब्ध कराए गए यात्रा रद्द फॉर्म को भरना चाहिए और इसे ई-मेल ceo.hajcommittee@nic.in पर भेजना होगा। बैंक पासबुक या रद्द चेक की फोटोकॉपी संलग्न करने का भी अनुरोध किया गया है। केंद्रीय हज समिति ने यह भी सूचित किया है कि यात्रा रद्द करने के इच्छुक उम्मीदवारों द्वारा भुगतान की गई राशि का 100 प्रतिशत बिना किसी कटौती के वापस कर दिया जाएगा। केंद्रीय हज समिति के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. मकसूद अहमद खान ने एक पत्र के माध्यम से देश की सभी राज्यस्तरीय हज समितियों को सूचित किया है।