" /> कोरोना के खिलाफ जंग में कूदी महिला गुलाबी गैंग

कोरोना के खिलाफ जंग में कूदी महिला गुलाबी गैंग

घर-घर जाकर लोगों को कर रही है जागरूक
गुलाबी गैंग के अनुमति के बिना गांव में कोई नहीं कर पाएगा प्रवेश
कोरोना वायरस के चलते फैली महामारी से अपने जिले को बचाने के लिए महाराष्ट्र के बीड़ जिले की महिलाओं ने गुलाबी गैंग बनाई है। यह गुलाबी गैंग अब कोरोना के खिलाफ चल रही जंग में कूद पड़ी है। यह गैंग गांव-गांव जाकर लोगों को संक्रमण से बचने के उपाय बता रहा है।

बीड़ जिले के शेलापुरी गांव की महिलाओं ने कोरोना के खिलाफ जंग छेड़ दी है। इसके लिए कुछ महिलाओं ने एक विशेष टीम तैयार की है। इस टीम को महिलाओं ने ‘गुलाबी गैंग’ नाम दिया है। गांव की महिलाओं द्वारा तैयार की गई, इस विशेष टीम में ग्राम प्रधान से लेकर आशा कार्यकर्ता समेत गांव की अनेक महिलाएं जुड़ी हुई हैं। गुलाबी गैंग की महिलाएं प्रत्येक घर में जा-जाकर लोगों को जागरूक करती हैं कि कोरोना से कैसे बचा जा सकता है और क्या-क्या सावधानियां बरतनी है। गौरतलब हो कि बीड के शेलापुरी गांव में 350 परिवार रहते हैं। गुलाबी गैंग की 20 महिलाओं ने पूरे गांव का मोर्चा संभाले हुए हैं।
गुलाबी गैंग घर-घर जाकर छोटे बच्चे और बुजुर्ग को कोरोना संकट काल मे कैसे विशेष ध्यान रखा जाए इसके बारे में बताती है। सैनिटाइजर का उपयोग कब करना है, कैसे करना है और बिना सरपंच की इजाजत के किसी को भी घर में प्रवेश न दिया जाए, ऐसी तमाम बातें समझाती हैं। केवल इतना ही नहीं गुलाबी गैंग गांव में बाहर से आनेवाले लोगों का हिसाब रखती हैं और उनसे जुड़ी जानकारियां भी जुटाती हैं। गांव में आनेवाले प्रत्येक व्यक्ति की पूरी जानकारी लेने के बाद ही उसे गांव में प्रवेश करने दिया जाता है। बिना गुलाबी गैंग की मंजूरी के फिलहाल गांव में कोई भी प्रवेश नहीं कर सकता है।