" /> कोरोना के चलते राष्ट्रीय पर्यावरण दिन को लगा ग्रहण!

कोरोना के चलते राष्ट्रीय पर्यावरण दिन को लगा ग्रहण!

सोहम फाउंडेशन ऑनलाइन लगवा रही है पेड़!

आज तक देखा गया है कि विश्व पर्यावरण दिवस पर देश, प्रदेश व  स्थानीय इकाइयों द्वारा पूरे देश में जोश के साथ वृक्षारोपण किया जाता था। इस वर्ष कोरोना ने उस अभियान को मानो ग्रहण लगा दिया है। कोरोना संक्रमण को रोकने में पूरा शासन-प्रशासन लगा हुआ है। इसके बावजूद उल्हासनगर की सोहम फाउंडेशन नामक सामाजिक संस्था ने वृक्षारोपण के अभियान को बढ़ाते हुए सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों से घर-आंगन में ही वृक्षारोपण करने की अपील लोगों से की है।
उल्हासनगर में सक्रिय रूप से समाज कार्य करनेवाली सोहम फाउंडेशन नामक सामाजिक संस्था ने कोरोना संक्रमण को देख सोशल मीडिया पर लोगों से घर-आंगन में ही पेड़ लगाने की मंशा जाहिर की है। जाहिर मंशा को सोशल मीडिया पर देख लोगों ने घर-आंगन में ही वृक्षारोपण करने शुरू किए हैं। उक्त जानकारी संस्था के प्रवक्ता नारायण वाघ ने दी। वाघ ने बताया कि हर वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस पर वे सैकड़ों सदस्यों के साथ पेड़ लगाते थे लेकिन इस वर्ष कोरोना के चलते सरकार द्वारा जारी सुरक्षा निर्देश को देखते हुए सोशल मीडिया के मार्फ़त पेड़ लगाने का आह्वान किया गया है।उस आह्वान पर संस्था के सदस्य सोपान भेरे के दो मासूम बच्चों ने कसारा के मोखावने गांव में वृक्षारोपण किया।
वाघ ने बताया कि विगत कई वर्षों से गर्मियों में पक्षियों को खाने व  पीने के पानी के अभाव में उनकी मौत को लोगों में जागरूकता फैलाकर पानी व दाने (अनाज) की व्यवस्था सोशल मीडिया से करवाई जाती थी। इस वर्ष भी गर्मी में कोरोना संक्रमण के दौरान  बेजुबान जानवरों (पक्षी, कुत्ते, बिल्ली) को पानी व खाद्य पदार्थ देकर उसकी सेल्फी मंगाई गई थी। देश-विदेश से सैकड़ों लोगों ने भाग लेते हुए सेल्फ़ी भेजी।