" /> कोरोना के मामले बढ़कर 11 हजार के पार, लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर गाइडलाइन जारी

कोरोना के मामले बढ़कर 11 हजार के पार, लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर गाइडलाइन जारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार(15 अप्रैल) सुबह 8 बजे जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार भारत में कोरोना वायरस के अब तक कुल 11439 मामले सामने आ चुके हैं। पिछले 24 घंटों की बात करें तो देश में कोरोना वायरस के कारण 38 मौतें हुई हैं, वहीं इस दौरान 1076 नए मामले सामने आए हैं। इस बीच गृह मंत्रालय ने आज देश भर में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर विस्तृत गाइडलाइन जारी कर दी। नई गाइडलाइन के मुताबिक कई क्षेत्रों को 20 अप्रैल से सशर्त काम करने की अनुमति दी गई है। देश में अब तक कुल 377 लोगो की मौत कोरोना वायरस के कारण हो चुकी है। भारत में कुल 1305 लोग अब तक ठीक हो गए हैं। 9756 लोगों का इलाज जारी है। सबसे ज्यादा मामले अभी तक महाराष्ट्र में सामने आए हैं। यहां अभी तक 2687 मामलों की पुष्टि हो गई है। इसके बाद दिल्ली में 1561 और तमिलनाडु में 1204 मामलों की पुष्टि हुई है।

20 अप्रैल के बाद खुलेंगे बैंक, एटीएम
गृह मंत्रालय की नई गाइडलाइन के मुताबिक बैंक शाखाएं और एटीएम, बैंकिंग परिचालन के लिए आईटी विक्रेता, बैंकिंग संवाददाता, एटीएम संचालन और नकदी प्रबंधन एजेंसियों को 20 अप्रैल के बाद खोला जा सकता है।

कृषि से जुड़ी गतिविधियों पर रोक नहीं
गृह मंत्रालय की जारी गाइडलाइन के मुताबिक सभी कृषि और बागवानी से जुड़ी गतिविधियां 20 अप्रैल के बाद पूरी तरह से काम करेंगी। इनमें एपीएमसी द्वारा संचालित मंडियों या राज्य / केन्द्र शासित प्रदेश सरकार द्वारा अधिसूचित। राज्य / केंद्रशासित प्रदेशों के द्वारा या उद्योग द्वारा प्रत्यक्ष विपणन संचालन, सीधे किसानों / किसानों के समूह, एफपीओ सहकारी समितियों आदि शामिल होंगे।

कोच्चि में चर्च के पादरी को किया गया गिरफ्तार
कोच्चि के विलिंगडन द्वीप में स्टेला मैरिस चर्च के पादरी फादर ऑगस्टाइन पालयिल को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उन पर कथित तौर पर लोगों को इकट्ठा करने और सामूहिकआयोजन करने का आरोप है। पादरी के साथ ही 6 लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है।

गोरखपुर के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट-एसडीएम का अनोखा तरीका
गोरखपुर के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट-एसडीएम गोरखपुर के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट-एसडीएम ने लोगों तक आवश्यक वस्तुएं पहुंचाने का तरीका निकाला है। उनके मुताबिक हमने जिले को 8 जोन में बांटा है।अगर हम लोगों को आवश्यक वस्तुएं उपलब्ध कराएंगे, तो वे बाहर नहीं आएंगे। हम स्थानीय युवाओं से जुड़े और एक ऑनलाइन पोर्टल बनाया। इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से हर ऑर्डर बिना किसी डिलीवरी चार्ज के दिया जाता है।