" /> कोरोना के लिए निधि की कमी नहीं होने देंगे- अजीत पवार

कोरोना के लिए निधि की कमी नहीं होने देंगे- अजीत पवार

पुणे स्मार्ट सिटी वॉर रूम में उपमुख्यमंत्री ने की मुलाकात
डैश बोर्ड प्रणाली की ली जानकारी

पुणे स्मार्ट सिटी डेव्हलपमेंट अंतर्गत कार्यान्वित किए गए वाॕर रूम (डैश बोर्ड) प्रणाली की कार्यपद्धति की उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने जानकारी ली व उपयुक्त सुझाव दिए। यह प्रणाली पुणे मनपा
द्वारा कोरोना वायरस की पृष्ठभूमि पर विकसित की गई है। यहां एक अत्याधुनिक कंप्यूटर प्रणाली है।कोरोना प्रभावित रोगियों, शहर में कोरोना प्रभावित क्षेत्र, बढ़ते क्षेत्र के बारे में अद्यतन जानकारी यहां उपलब्ध है। इसलिए उपाय योजना करना आसान हो जाता है ओर शुरुआती जानकारी यहां उपलब्ध हो जाती है। यह जानकारी मनपा आयुक्त शेखर गायकवाड़ ने उपमुख्यमंत्री को दी। इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस पर नियंत्रण के लिए निधि की कमी नहीं होने दी जाएगी।
इस मौके पर अतिरिक्त आयुक्त रुबल अग्रवाल ने कहा कि यहाँ निरंतर काम चालू रहता है। इस अवसर पर महापौर मुरलीधर मोहोल, जिलाधिकारी नवल किशोर राम, अपर आयुक्त शांतानु गोयल, स्वास्थ्य प्रमुख डाॕ.रामचंद्र हंकारे आदि उपस्थित थे। यह प्रणाली अच्छी है। यदि किसी कोरोनर प्रभावित व्यक्ति को कॉल आता है, तो एम्बुलेंस को तुरंत पहुंचना चाहिए। भविष्य के दृष्टिकोण से बालवाणी की तरह कोविद केंद्र को अन्य जगहों पर भी संचालित किया जाना चाहिए। ऐसा अजीत पवार ने स्पष्ट किया। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री ने पूछा कि पहली बार कोरोना मरीज ठीक होकर गया, उसके बाद वह या उसके रिश्तेदार फिर से संक्रमित हुए क्या? इसपर आयुक्त ने कहा ऐसा नही हुआ। हम उनके साथ लगातार संपर्क में रहते हैं। हर दिन चार से साढ़े चार हजार लोगों को फोन किया जाता है। ऐसा उन्होंने बताया। डॉक्टरों और एम्बुलेंस की उपलब्धता के बारे में पूछताछ करते समय धन की कोई आवश्यकता है, तो मांग करो। वह निधी तुरंत उपलब्ध कराई जाएगी। ऐसा आश्वासन अजीत पवार ने दिया।