" /> कोरोना क्राइसिस!, महाराष्ट्र पर सबसे ज्यादा कहर

कोरोना क्राइसिस!, महाराष्ट्र पर सबसे ज्यादा कहर

कोरोना का कहर मुंबई सहित देशभर में रोजाना बढ़ता जा रहा है। मंगलवार को एक तरफ जहां देशभर में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर १३७ हो गई, वहीं महाराष्ट्र में यह आंकड़ा ४१ तक पहुंच गया। मंगलवार को मुंबई में कोरोना के चलते एक ६५ वर्षीय व्यक्ति की मृत्यु हो गई, जिसके बाद कोरोना के कारण देशभर में मरनेवालों की संख्या ३ हो गई है। इसके अलावा कल्याण में एक तीन साल की छोटी बच्ची में कोरोना का केस पॉजिटिव पाया गया। इन सभी बातों को देखते हुए सरकार कोरोना को रोकने के लिए पूरी तरह प्रयास कर रही है और इससे निपटने में लगी हुई है।
६५ वर्षीय व्यक्ति की मौत
मंगलवार को सुबह तकरीबन ७ बजे कोरोनाग्रस्त एक ६५ वर्षीय मरीज ने अपनी जान खो दी। ६५ वर्षीय मरीज मूल रूप से माटुंगा का निवासी था और दुबई से हिंदुस्थान वापस लौटा था। इसी के साथ मरीज की पत्नी और बेटे में भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। देश में कोरोना के संक्रमण से मौत का यह तीसरा मामला है। इससे पहले १३ मार्च को कर्नाटक के कलबुर्गी में एक ७६ वर्षीय बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया था, जो देश का पहला मामला था। इसके अलावा दूसरे मामले में दिल्ली की ६८ वर्षीय महिला की मौत हो गई थी। वह डायबिटिज और हाइपरटेंशन से पीड़ित थी। कोरोना से मरनेवालों की संख्या में विश्वभर में सबसे बड़ा आंकड़ा बुजुर्ग लोगों का है। जिसका मतलब यह बुजुर्गों पर अपना असर ज्यादा डालता है।
तीन साल की बच्ची भी पीड़ित
सोमवार को मुंबई से सटे कल्याण में एक तीन साल की बच्ची में कोरोना पॉजिटिव देखने को मिला। इसी के साथ बच्ची की मां में भी कोरोना पॉजिटिव है। दोनों मां-बेटी को कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है। बच्ची और मां को कोरोना का संक्रमण उनके पिता से हुआ, जो कि हाल ही में अमेरिका से यात्रा करके वापस हिंदुस्थान लौटे थे।