" /> कोरोना ने पैदा किया रोजी-रोटी का संकट!, गांव लौटने को मजबूर हैं मजदूर

कोरोना ने पैदा किया रोजी-रोटी का संकट!, गांव लौटने को मजबूर हैं मजदूर

लगभग एक हफ्ते पहले नवविवाहित ऋषि कुमार ट्रेन पकड़कर मुरादाबाद से दिल्ली आए थे। वह सोचकर निकले थे कि अगले महीने पत्नी के लिए उपहार लेकर वापस लौटेंगे। ऋषि कुमार पैकर्स एंड मूवर्स कंपनी के लिए काम करते हैं और तीन अन्य लोगों के साथ कश्मीरी गेट के पास एक कमरे के घर में रहते हैं। उन्होंने मंगलवार को अपना बैग पैक किया और पत्नी के लिए बिना किसी उपहार लिए सीधे अपने गांव सिरसा खेड़ा के लिए रवाना हो गए।
मुकेश ने कहा कि कंपनीवालों ने बताया कि एक बीमारी से हजारों लोगों की जान जा चुकी है। हमें एक सप्ताह की कमाई का भुगतान किया और जाने को कहा। कहा कि पिछले कुछ दिनों से कारोबार मंदा है। काम बंद होने के चलते उसे चिंता है कि वह शादी के लिए अपने रिश्तेदारों से लिए गए पैसे को वैâसे चुकाएगा? दिल्ली में रोजाना देश भर के अलग-अलग हिस्सों से लोग मजदूरी और छोटी-मोटी नौकरी तलाशने आते हैं। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप ने ऐसे लोगों की आजीविका के साधन को ही प्रभावित किया है। कोरोना रूपी महामारी के चलते दैनिक बाजार प्रभावित होने से काम की तलाश में यहां आनेवाले लोग गांव लौटने को मजबूर हैं। सदर बाजार में मसालों के थोक विक्रेता दिनेश शर्मा ने बताया कि उनके यहां एक लड़का टेंपो से दुकानों में माल पहुंचाता था, कोरोना के भय के चलते वह बागपत अपने गांव लौट गया है। ३१ मार्च तक साप्ताहिक बाजारों पर प्रतिबंध लगाने के दिल्ली सरकार के पैâसले का सड़क पर धंधा लगानेवालों की आजीविका पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।

मामले बढ़कर हुए १३७
नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी चीन, यूरोप सहित पूरी दुनिया में कहर बरपा रही है। हिंदुस्थान में भी इसके संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। देश में अब तक कोरोना के १३७ मामले सामने आ चुके हैं। तुर्की, यूके और यूरोपीय देशों से आनेवाले भारतीयों पर भी रोक लगा दी गई है। इस बीच पुणे में मंदिर, किले और बाजार बंद किए गए। गो-एयर ने कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर अपनी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें १७ मार्च से १५ अप्रैल तक बंद की हैं।

पाक १ दिन में पस्त
इस्लामाबाद। ईरान से लगे पाकिस्तान के सिंध में कोरोना वायरस के मामलों के अचानक बढ़ने से देश में डर का माहौल पैदा हो गया है। पूरे देश में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर मंगलवार को १९३ हो गई है। लाहौर से एक संदिग्ध की मौत की खबर भी है, जिससे अचानक संकट गंभीर होता दिख रहा है। हालात को देखते हुए प्रधानमंत्री इमरान खान देश को संबोधित कर सकते हैं। वे सरकार की नीतियों के बारे में जानकारी दे सकते हैं। एक अधिकारी ने बताया है कि सिंध में १५५, खैबर पख्तूनख्वा में १५, बलूचिस्तान में १०, गिलगित बाल्तिस्तान में पांच, इस्लामाबाद में दो और पंजाब में एक व्यक्ति में संक्रमण की पुष्टि हुई है।

फुटबॉल कोच की कोरोना से मौत
नई दिल्ली। कोरोना वायरस के कहर से कई देशों के राजनेता और खिलाड़ी भी अछूते नहीं हैं। यूरोप में इन दिनों कोरोना तबाही मचा रहा है। दुनियाभर में इस खतरनाक वायरस से मरनेवालों का आंकड़ा ७,००० के पार जा चुका है। इटली में पिछले २४ घंटे में ३४९ तो स्पेन में लगभग १०० की मौत हो गई। स्पेन के युवा फुटबॉल कोच प्रâांसिस्को गार्सिया भी इस वायरस के चपेट में आ गए और उनकी मौत हो गई। एथलिटको पोर्टाडा क्लब में वे कोच थे। वह मात्र २१ साल के थे। जानकारी के मुताबिक वे वैंâसर का इलाज भी करवा रहे थे। इस दौरान कोरोना ने उन पर हमला कर दिया। पहले से ही वे एक बीमारी की चपेट में थे और ऐसे में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो गई थी। अस्पताल में उन्होंने दम तोड़ दिया।

 

ये भी पढ़ें… बस-मेट्रो में सफर करनेवाले लोग, बरतें ५ सावधानियां